कोरोना के बढ़ते खतरे के बावजूद भीड़भाड़ वाले स्थानों पर नहीं है जांच की व्यवस्था, गांवों में भी सिर्फ खानापूर्ति

जानकारी

कोरोना की चौथी लहर आने की जतायी जा रही आशंका और देश के कुछ राज्यों में एक बार फिर कोरोना के मरीजों की बढ़ रही संख्या के बावजूद को समस्तीपुर में कोरोना जांच सिर्फ सरकारी अस्पतालों तक ही सिमटा हुई है। सदर अस्पताल के अलावे सभी अनुमंडलीय व पीएचसी में कोरोना जांच के साथ-साथ टीकाकरण भले ही चल रहा है, लेकिन भीड़भाड़ व सार्वजनिक जगहों पर कहीं जांच की व्यवस्था नहीं है।

रेलवे स्टेशन और बस स्टैंड में पूर्व में की गयी जांच की व्यवस्था इन दिनों नदारद है। हालांकि जिले में अभी पिछले कई महीने से कोरोना के एक भी संक्रमित मरीज नहीं मिले हैं। मिली जानकारी के अनुसार, जिले के सरकारी अस्पातलों में प्रतिदिन औसतन तीन हजार लोगों की कोरोना जांच की जाती है। इसमें अधिकांश गर्भवती महिलाएं, बंध्याकरण ऑपरेशन कराने वाली महिलाएं, सजा पाने वाले कैदी आदि शामिल रहते हैं।

इसके अलावे मुख्यमंत्री के जनता दरबार में फरियाद लेकर जाने वाले या फिर हवाई यात्रा कराने वाले लोग कोरोना जांच करवाते हैं। अब आम लोग भी कोरोना जांच के प्रति जागरूक नहीं हैं। वैसे सदर अस्पताल में नाइन टू नाइन यानि सुबह नौ बजे से रात नौ बजे तक कोरोना जांच की व्यवस्था है। लेकिन पिछले पंद्रह दिनों से मात्र 15 से बीस लोग ही कोरोना जांच कराने के लिए पहुंच रहे हैं।

कोरोना जांच एक नजर में
एंटीजन ट्रूनेट आरटीपीसीआर

17 अप्रैल 1857 90 1025

16 अप्रैल 2251 90 1133

15 अप्रैल 2128 90 1111

14 अप्रैल 2161 81 1104

13 अप्रैल 2218 90 1107

12 अप्रैल 2259 81 1089

11 अप्रैल 2291 90 1184

10 अप्रैल 1831 81 1973

फिलहाल समस्तीपुर जिले में कोरोना संक्रमित नहीं

28 लाख से अधिक की हुई है जांच
कोरोना संक्रमण के शुरुआती दौर में मार्च 2020 से 17 अप्रैल तक जिले में 28 लाख 80 हजार 560 लोगों की कोरोना जांच की जा चुकी है। जिसमें अब तक 22,732 लोग पॉजिटिव मिले थे। फिलहाल एक सप्ताह में कोरोना जांच में 17 अप्रैल को 2972 लोगों की, 16 अप्रैल को 3474 की, 15 अप्रैल को 3329 की, 14 अप्रैल को 3346 की 13 अप्रैल को 3415 की, 12 अप्रैल को 3429 की, 11 अप्रैल को 3566 की एवं 10 अप्रैल को 2985 लोगो की कोरोना जांच की गयी। इसमें एक भी व्यक्ति पॉजिटिव नहीं मिले।

Leave a Reply

Your email address will not be published.