कोरोना चौथी लहर की आशंका, अब भी टीके की दूसरी डोज से दूर हैं 2.87 लाख लोग; सिविल सर्जन ने की यह अपील

खबरें बिहार की जानकारी

कोरोना की चौथी लहर की आशंका लगातार बढ़ती जा रही है। स्वास्थ्य विभाग हर रोज जिले में 225 से 250 केंद्रों के जरिये लोगों को कोरोना का टीका लगवाने के लिए अपील कर रहा है। कोरोना विशेषज्ञों की मानें तो नौ माह बाद अगर कोरोना की दूसरी या फिर प्रीकाशन डोज नहीं लगती है तो ऐसे लोगों को कोरोना संक्रमण का सर्वाधिक खतरा है। बावजूद जिले में अबतक करीब 2.87 लाख लोग ऐसे हैं, जिन्होंने अब तक कोरोना के दूसरे डोज से दूरी बना रखी है।

स्वास्थ्य विभाग के आंकड़े बताते हैं कि जिले के 18 लाख 90 हजार 318 लोगों को कोरोना टीके की दूसरी डोज लगनी है, लेकिन 18 अप्रैल तक के आंकड़े बताते हैं कि इनमें से 16 लाख 3 हजार 171 लोगों ने ही कोरोना की दूसरी डोज लगवायी थी। वहीं जिले के 2 लाख 87 हजार 147 लोगों ने कोरोना टीके की दूसरी डोज से दूरी बना रखी थी, जो कि लक्षित आबादी का करीब 15 प्रतिशत है।

इनमें से ज्यादातर लोगों को कोरोना टीके की पहली डोज लगवाये नौ माह बीत चुके हैं। सबसे ज्यादा जगदीशपुर व नारायणपुर प्रखंड के 18-18 प्रतिशत लोगों ने कोरोना टीके की दूसरी डोज से दूरी बना रखी है। जगदीशपुर व नारायणपुर प्रखंड में जिले में सर्वाधिक 18-18 प्रतिशत लोगों ने दूसरी डोज नहीं लगवायी है। वहीं सबसे कम गोराडीह प्रखंड में महज नौ प्रतिशत लोगों ने कोरोना टीके की दूसरी डोज से अबतक दूरी बनाकर रखी हैं।

नौ माह बाद शरीर में नहीं मिल रही है एंटीबॉडी

मायागंज अस्पताल के मेडिसिन विभाग के एसोसिएट प्रोफेसर डॉ. राजकमल चौधरी ने बताया कि अब तक कोरोना टीके लगने के बाद शरीर में कितने दिन तक एंटीबॉडी बनी रहती है, इस पर कोई प्रामाणिक शोध तो सामने नहीं आया है, लेकिन जिन लोगों ने कोरोना की पहली डोज ली और नौ माह बाद कोरोना की दूसरी या फिर प्रीकाशन डोज नहीं ली है, उनमें से करीब 83 प्रतिशत लोगों में कोरोना से लड़ने के लिए एंटीबाडी जांच में नहीं मिल रही है। ऐसे में नौ माह पहले कोरोना की पहली या फिर दूसरी डोज लगवा चुके लोग जल्द कोरोना टीके की दूसरा या फिर प्रीकाशन डोज लगवाकर खुद को सुरक्षित कर लें।

सिविल सर्जन डॉ. उमेश शर्मा ने कहा कि कोरोना से बचाव को लेकर जारी गाइडलाइन जैसे मास्क लगाना, सोशल डिस्टेसिंग व सेनिटाइजर का इस्तेमाल आदि का पालन करें। साथ ही कोविशील्ड का पहला या दूसरा टीका जिन्होंने नौ माह या फिर 39 सप्ताह पहले लगवा लिया है, वे कोरोना टीके का दूसरा या फिर प्रीकाशन डोज जल्द से जल्द लगवा लें। साथ ही जिन्हें कोवैक्सीन का दूसरा टीका नौ माह पहले लगा है, वे भी प्रीकाशन डोज ले लें। कोवैक्सीन या कोविशील्ड का पहला टीका जिन्होंने 28 दिन पहले लगवाया है, वे 28 दिन बाद दूसरी डोज ले लें।

Leave a Reply

Your email address will not be published.