वेतन नहीं मिलने पर कंप्यूटर टीचर को आया गुस्सा, 12 लोगों के साथ मिलकर की DPO की पिटाई

खबरें बिहार की

पटना: छपरा में एक कंप्यूटर शिक्षिका और डीपीओ के बीच वेतन को लेकर जमकर मारपीट हुई। इस दौरान जिला कार्यक्रम पदाधिकारी के कार्यालय में अफरातफरी का माहौल रहा। बताया जा रहा है कि शिक्षिका अपने साथ कुछ लोगों को भी लेकर आई थी। इस मारपीट में दोनों पक्षों को चोटें आई हैं। डीपीओ ने इस संबंध में एफआईआर दर्ज करवाया है।

जानकारी के मुताबिक कंप्यूटर शिक्षिका कुछ लोगों के साथ अपना वेतन मांगने जिला कार्यक्रम पदाधिकारी के कार्यालय पहुंची थी। आरोप के मुताबिक वेतन नहीं मिलने के बाद शिक्षिका अनिता कुमारी ने डीपीओ के साथ मारपीट शुरू कर दी। देखते ही देखते पूरा कार्यालय रणक्षेत्र में तबदील हो गया। यह पूरा ड्रामा कई घंटों तक चला। इस मारपीट में दोनों पक्षों को चोट लगी। अनिता कुमारी उत्क्रमित मध्य विद्यालय में कंप्यूटर शिक्षिका है।

दरअसल मामला 2014 का है। एक एनजीओ ने स्कूल में पढ़ाने के लिए कंप्यूटर शिक्षकों को बहाल किया था। इस शिक्षकों को फिल्ड में काम करना था। सारभर में एनजीओ शिक्षकों को वेतन दिए बगैर ही फरार हो गया। तभी से कंप्यूटर शिक्षकों वेतन अटका हुआ है। इस संबंध में डीपीओ ने बताया कि इस कंप्यूटर शिक्षकों के बहाल एनजीओ के माध्यम से हुई है। ऐसे में वेतन देने का अधिकार भी एनजीओ के पास ही होता है। मगर शिक्षक हमारो ऊपर वेतन देने का दबाव बना रहे हैं।

डीपीओ ने बताया कि उन्होंने सारे दस्तावेज के साथ अपना पक्ष रखा था। इस आधार पर शिक्षकों के दावों को खारिज किया गया है। इसी के खिलाफ रिविलगंज थाना की रहनेवाली अनिता कुमारी अपने पति के साथ हमारे कार्यालय आई और मारपीट की। उनके साथ 12 और लोग थे। डीपीओ के मुताबिक ऑफिस में घुसते ही सभी मारपीट करने लगे। इस संबंध में पुलिस को जानकारी दी गई। पुलिस के आने से पहले ये लोग भागने में सफल हो गए।

Source: Live Bihar

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *