इंसान है या कंप्यूटर- इनकी मेमोरी देख कर चकरा जायेंगे आप

कही-सुनी

कंकडबाग हनुमान नगर के रहने वाले 30 वर्षीय नौजवान अजीत भारती किसी भी सडक पर आधे घंटे खडे होकर वहां से गुजरने वाली गाडियों के न नंबर बल्कि उसके रंग भी बता सकते है।

अपनी इस दिमाग की कला के बदौलत ही अजीत भारती को लिम्का बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड में अपना नाम दर्ज कराने के लिए दावा पेश किया है। अजीत की एक बडी खासियत यह है कि यह एक हजार साल तक का कैलेंडर एक सेकेंड में रिकॉल कर सकता है, मसलन आपको मालूम करना है कि 23 दिसंबर 1865 को कौन सा दिन था तो आपके छूटते ही बता देंगे।
उनका दावा है कि सिर्फ भारत ही नहीं बल्कि पूरे एशिया में कोई ऐसा है नहीं जो मात्र एक सेकेंड में ऐसा कर दें। अजीत की मेमोरी पावर भी बहुत जबरजस्त है यह एक बार में सैकडों नंबर सुन कर न सिर्फ उसको याद रख सकते है बल्कि उसको जिस क्रम में उन्हें बताया गया उसी क्रम में आपको सुना भी सकते है। 

Leave a Reply

Your email address will not be published.