कंपनी में रसूखदारों के पैसे लगाता था ललन सिंह का करीबी गब्बू , कई IAS-IPS से कनेक्शन; 500 करोड़ का ब्लैक टर्न ओवर

खबरें बिहार की जानकारी

टैक्स चोरी को लेकर आयकर विभाग के रडार पर आए जेडीयू अध्यक्ष ललन सिंह के करीबी बिल्डर गब्बू सिंह के कई रसूखदारों से लेनेदेन के सबूत मिले हैं। गब्बू सिंह की कंपनी में कई रसूखदारों के पैसे के निवेश की जानकारी भी मिली है। एक दर्जन आईएएस-आईपीएस अधिकारियों के साथ उनके न सिर्फ करीबी ताल्लुकात बताए जाते हैं, बल्कि उनके पैसे भी खपाए गए। यह सब काफी चालाकी से किए गए हैं। अधिकारियों के बजाए उनके करीबियों के नाम पर काली कमाई को खपाने की बात सामने आई है। हालांकि आयकर विभाग ने छापेमारी में बरामद नकद और अन्य दस्तावेजों को लेकर शनिवार को भी आधिकारिक तौर पर कोई खुलासा नहीं किया।

श्री गोविंदा कंस्ट्रक्शन प्राइवेट लिमिटेड के मालिक राजीव कुमार सिंह उर्फ गब्बू सिंह के ठिकानों पर आयकर की कार्रवाई शनिवार को भी जारी रही। सूत्रों के मुताबिक कंपनी का सलाना टर्नओवर कागज पर 150 करोड़ के आसपास दर्शाया गया है। लेकिन हकीकत में सलाना कारोबार 600 से 700 करोड़ के आसपास बताया जा रहा है। यही वजह है कि आयकर विभाग की कार्रवाई का दायरा बढ़ता जा रहा है।

कई और आ सकते हैं आयकर के रडार पर

सूत्रों के मुताबिक छापे में मिले दस्तावेज के आधार पर कई रसूखदार आयकर के रडार पर आ सकते हैं। टैक्स बचाने के लिए फर्जी लेनदेन के भी साक्ष्य मिले हैं। कई लेनदेन को कंपनी के लेजर बुक पर दर्शाया ही नहीं गया है। बड़े पैमाने पर टैक्स चोरी और रसूखदारों की काली कमाई खपाए जाने को लेकर मिले कागजातों की विस्तृत छानबीन की जा रही है।

बिहार से एनसीआर तक 23 ठिकानों पर पड़े हैं छापे

गब्बू सिंह बिल्डर के साथ सरकारी ठेकेदार भी हैं। कई विभागों में वह बड़े ठेके लेते हैं। उनका होटल का भी कारोबार है। टैक्स चोरी और वित्तीय अनियमितता के मामले में आयकर विभाग ने गब्बू सिंह के साथ उनसे जुड़े कुछ सहायक ठेकेदारों के पटना, दिल्ली, गाजियाबाद और नोएडा के कुल 23 ठिकानों पर छापेमारी की है। इस दौरान करोड़ों के टैक्स चोरी का मामला सामने आया है। साथ ही 50 करोड़ नकद मिलने की बात आई थी। हालांकि यह रकम बढ़ सकती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.