पटना: मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने विधायकों से अपील की है कि वे अपने क्षेत्र की समस्याओं को उठाएं। इसके लिए वे सरकार को पत्र भी भेज सकते हैं। निश्चित रूप से उसके ऊपर कार्रवाई होगी। उन्होंने कहा कि वे हाथ जोड़कर विधायकों से अपील करते हैं कि वे अपने क्षेत्र की गड़बड़ी को अवश्य सामने लाएं।

सीएम मंगलवार को विधानसभा में राज्यपाल के अभिभाषण पर सरकार का पक्ष रख रहे थे। उन्होंने दावा किया कि बिहार में हर सेक्टर में काम हो रहे हैं और उसके सकारात्मक परिणाम अब सामने भी आ रहे हैं। उन्होंने कहा कि हम आत्मनिर्भर बिहार के लिए तेजी से काम कर रहे हैं।

इसके लिए सात निश्चय पार्ट-2 पर काम शुरू हो चुका है। हम सिर्फ घोषणा नहीं करते, काम करते हैं। नीतीश कुमार ने कहा कि कोरोना को लेकर हमने अस्पतालों में भी सारी व्यवस्थाएं की। लोगों को सुविधाएं दीं। उन्हें बेहतर से बेहतर इलाज की सुविधा हर जगह मिले, इसके लिए युद्धस्तर पर प्रयास किया गया।

काेराेना काे लेकर असावधानी न बरतें कोरोना को लेकर सीएम ने तमाम मापदंडों का पालन करने की अपील की। कहा-लोग कंफीडेंट हो गए हैं। उन्हें लग रहा है कि यह खत्म हो गया है। पर, किसी सूरत में किसी स्तर पर कोई असावधानी नहीं होनी चाहिए। हम खुद इसको लेकर बेहद गंभीर है। लगातार मॉनिटरिंग हो रही है।

हर दिन की डाटा देख रहे हैं और उसी हिसाब से निर्देश भी दिया जा रहा है। बिहार में कोरोना को लेकर काफी अच्छा काम हो रहा है। जांच के मामले में राष्ट्रीय औसत 8.4 है तो बिहार की 10 फीसदी से अधिक है। 10 लाख की आबादी पर जांच में हम 21 हजार आगे हैं।

कहीं गड़बड़ी हो जाती है तो तत्काल उसपर कार्रवाई भी होती है। मोबाइल नंबर को लेकर शून्य इसलिए लिखा गया कि बड़ी संख्या में लोगों के पास मोबाइल नहीं हैं। सरकार किसी तरह की गड़बड़ी पर तत्काल कार्रवाई के लिए गंभीर है। लेकिन यह सिर्फ एक की जिम्मेवारी नहीं है। हम सबको इस पर पहल करनी होगी। अपने क्षेत्र की जानकारी दीजिए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here