सीएम नीतीश बोले-कोई भूखा ना रहे, सामुदायिक रसोई की संख्या बढ़ाएं

खबरें बिहार की

पटना: मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने पदाधिकारियों को निर्देश दिया कि मजदूर, निर्धन, गरीब, जरूरतमंद, निराश्रित, निःशक्त को दोनों वक्त भोजन की व्यवस्था सुचारू रुप से चलाते रहें, ताकि कोई भी भूखा न रहे। आवश्यकता के अनुसार जिलों में  सामुदायिक रसोई केंद्र की संख्या बढ़ाएं। साथ ही प्रखंड स्तर पर भी सामुदायिक रसोई केंद्र बनाएं, जिससे अधिक-से-अधिक लोग भोजन कर सकें। केंद्र पर आने वाले बच्चे-बच्चियों के लिए दूध की व्यवस्था करें। होम आइसोलेशन में रह रहे मरीजों और जरूरतमंदों को होम डिलीवरी के माध्यम से भोजन की व्यवस्था कराएं

मुख्यमंत्री ने सोमवार को 22 जिलों के सामुदायिक रसोई केंद्रों का वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग से निरीक्षण किया। भोजन कर रहे हैं लोगों से बात की और पदाधिकारियों को कई निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि केंद्र पर पेयजल की भी व्यवस्था व साफ-सफाई के साथ-साथ हमेशा सेनेटाइजेशन कराते रहें।

रसोई केंद्रों पर कोविड प्रोटोकॉल का पालन ठीक से कराएं। हमलोग कोरोना संक्रमितों के बचाव के लिए हर जरूरी कदम उठा रहे हैं। साथ ही सरकारी अस्पतालों में रोगियों के परिजनों के लिए सामुदायिक रसोई के माध्यम से भोजन उपलब्ध कराया जा रहा है। सभी लोग अपनी जिम्मेवारी का केंद्र पर बेहतर निर्वहन करते रहें, ताकि किसी को कोई असुविधा न हो। बिहार में हमलोग सभी लोगों का ख्याल रख रहे हैं। रसोई केंद्र का जायजा लेने के दौरान मुख्यमंत्री को भोजन करने वाले लोगों ने बताया कि यहां अच्छी व्यवस्था है। किसी प्रकार की कोई दिक्कत नहीं है। 

मुख्यमंत्री ने पूछा कितने टाइम यहां भोजन करते हैं
निरीक्षण के दौरान मुख्यमंत्री ने सभी जिलों के रसोई केंद्रों पर की गई व्यवस्था की गहन जानकारी ली। उन्होंने रसोई की व्यवस्था, भोजना बनायी जाने वाली सामग्री, खाने के दौरान बैठने की व्यवस्था, साफ-सफाई, पेयजल की व्यवस्था, खाने वाले लोगों की संख्या आदि के बारे में स्वयं जानकारी ली। भोजन कर रहे कई लोगों से बातचीत की। उन्होंने पूछा आप कब से यहां भोजन कर रहे हैं। भोजन कितने टाइम करते हैं। खाने में क्या-क्या चीजें मिलती हैं। घर के कितने लोग यहां खाते हैं, आदि। सभी लाभुकों ने भोजन व्यवस्था की सराहना की। 

जिलाधिकारियों ने दी जानकारी
मुख्यमंत्री को किशनगंज, अररिया, सुपौल, मधुबनी, सीतामढ़ी, शिवहर, वैशाली, सारण, गोपालगंज, मुंगेर, जमुई, लखीसराय, शेखपुरा, बेगूसराय, बांका, नवादा, जहानाबाद, अरवल, बक्सर, कैमूर, रोहतास एवं भोजपुर जिले के जिलाधिकारियों ने सामुदायिक रसोई केंद्रों की व्यवस्था के संबंध में विस्तृत जानकारी दी। उन्होंने जिलों में सक्रिय मरीज, जिलों में चलाए जा रहे कुल सामुदायिक रसोई केंद्रों की संख्या, भोजन करने वालों की संख्या, रसोइया, मेनू, सामग्री, यहां से मरीजों के परिजनों के भोजन की व्यवस्था, केंद्रों की स्वच्छता आदि की पूरी जानकारी दी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *