सीएम नीतीश ने की पितृपक्ष मेले की तैयारियों की समीक्षा, कहा: श्रद्धालु व्यवस्था से खुश होंगे तो देश भर में जायेगा अच्छा संदेश

खबरें बिहार की

गया: शुक्रवार काे मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने पितृपक्ष मेला महासंगम की तैयारियाें की समीक्षा बैठक की. इस दाैरान उन्हाेंने अधिकारियाें से स्पष्ट रूप से कहा कि पहले से आैर बेहतर, यानी अभूतपूर्व मेले की व्यवस्था हाे. मेले में देश-विदेश से लाखाें तीर्थयात्री अपने पितराें का पिंडदान व तर्पण करने गयाजी आते हैं, उन्हें किसी तरह का काेई कष्ट न हाे.

श्रद्धालु यहां की व्यवस्था से खुश हाेकर अच्छा संदेश लेकर जायें, ताकि अगले वर्ष से मेले में अधिक लाेग आ सकें. इससे न सिर्फ गयाजी की, बल्कि राज्य में आर्थिक संपन्नता भी आयेगी. साफ-सफाई व स्वच्छता का बेहतर प्रबंध हाे. हर हाल में चाैबीसाें घंटे निर्बाध बिजली मिले, ऐसा इंतजाम करें. बैठक के शुरू में डीएम अभिषेक सिंह ने प्राेजेक्टर के माध्यम से मेले की अब तक की तैयारी व कार्यनीति काे दर्शाया. उन्हाेंने स्लाइड दिखा बताया कि मेले काे सफल बनाने व सुरक्षा के किस तरह के इंतजाम रखे गये हैं. उन्हाेंने बताया कि 16 समितियाें का गठन किया गया है.
तीर्थयात्रियाें के लिए आवासन, जलापूर्ति, शाैचालय, साफ-सफाई, सुरक्षा, स्वच्छता, निर्बाध बिजली आपूर्ति, 72 स्थानाें पर पुलिस कैंप, 192 स्थानाें पर सीसीटीवी, जगह-जगह दंडाधिकारियाें व पर्याप्त संख्या में पुलिस बल की तैनाती, चिकित्सा सुविधा के लिए स्वास्थ्य शिविर, यातायात व परिवहन की व्यवस्था के लिए रिंग बस सेवा के अलावा अन्य सहूलियतें देने की तैयारी है.
 
सादे लिबास में रहेंगे पुलिसकर्मी
डीएम ने बताया कि खाद्य पदार्थाें की शुद्धता की जांच, सड़क, व नाली मरम्मत, भीड़ नियंत्रण के लिए सादे लिबास में पुलिस बल की तैनाती, माेबाइल एप, कॉल सेंटर, वेबसाइट व हेल्पलाइन नंबर (08448596580) के माध्यम से मेले से संबंधित हर प्रकार की जानकारी उपलब्ध कराने के पुख्ता प्रबंध किये गये हैं. जिला प्रशासन द्वारा मेला से संबंधित तैयार लघु वृत्तचित्र ‘पितृपक्ष महासंगम’ काे भी मुख्यमंत्री के समक्ष प्रदर्शित किया गया.
बैठक में ये रहे शामिल
बैठक में शिक्षा सह जिला के प्रभारी मंत्री कृष्णनंदन प्रसाद वर्मा, कृषि मंत्री डॉ प्रेम कुमार, सांसद हरि मांझी, विधायक अभय कुशवाहा, विनाेद कुमार यादव, मुख्य सचिव दीपक कुमार, पुलिस महानिदेशक केएस द्विवेदी, गृह विभाग के प्रधान सचिव आमिर सुबहानी, मुख्यमंत्री के प्रधान सचिव चंचल कुमार, राजस्व एवं भूमि सुधार विभाग के प्रधान सचिव ब्रजेश मेहराेत्रा, नगर विकास व आवास विभाग के प्रधान सचिव चैतन्य प्रसाद, स्वास्थ्य विभाग के प्रधान सचिव संजय कुमार, पीएचईडी के सचिव जितेंद्र श्रीवास्तव, आर लक्ष्मणन, मुख्यमंत्री के सचिव मनीष वर्मा, परिवहन सचिव संजय अग्रवाल समेत अन्य विभागाें के प्रधान सचिव, सचिव, डीएम व एसएसपी माैजूद थे.
दिव्यांग व वृद्धों के लिए हाे विशेष व्यवस्था
सीएम ने अधिकारियाें से कहा कि चूंकि यह राजकीय मेला है. ऐसे में साफ-सफाई व स्वच्छता का पूरा प्रबंध रखें. सीएम ने निर्देश दिया कि घाटाें, तालाबाें व रास्ताें की नियमित रूप से सफाई हाेनी चाहिए. तालाबाें में काफी संख्या में तीर्थयात्री स्नान करते हैं इसलिए उसकी सफाई व स्वच्छता पर विशेष ध्यान हाे. पानी की स्वच्छता के साथ-साथ उसकी निकासी भी जरूरी है. उन्हाेंने कहा कि जाे लावारिस पशु शहर के अंदर विचरण कर रहे हैं, उन्हें पकड़ कर गोशाला में रखने की तत्काल व्यवस्था करें. मेले में आनेवाले दिव्यांग व वृद्धाें के लिए विशेष सुविधा रखी जाये, ताकि उन्हें काेई कष्ट न हाे. इसके लिए सीएम ने सख्त हिदायत दी. शाैचालय की नियमित सफाई हाे. असामाजिक तत्वाें पर विशेष निगाह रखने की जरूरत है.
रेलवे के सभी प्लेटफॉर्म पर सीसीटीवी लगाने का तत्काल प्रबंध किया जाये. श्री कुमार ने कहा कि पुनपुन तक परिवहन व्यवस्था काे सुचारु करें. मेला क्षेत्र में लगे जर्जर तार काे अविलंब बदलें. सीएम ने कहा कि पैसे की काेई कमी नहीं है, जाे भी जरूरत हाेगी उसे पूरा किया जायेगा.
Source: Prabhat Khabar

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *