CM नीतीश कुमार आज अपने जन्मदिन पर खुद वैक्सीन लगवाकर करेंगे तीसरे चरण के वैक्सीनेशन की शुरुआत

खबरें बिहार की

Patna: बिहार में अब सभी लोगों को कोरोना की वैक्सीन मुफ्त में लगाई जाएगी, चाहे वह जहां लगे, निजी या सरकारी अस्पताल में। टीका लेने पर किसी तरह का शुल्क नहीं देना होगा। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने रविवार को कोरोना टीकाकरण के तीसरे चरण की समीक्षा की जिसके बाद यह एलान किया गया। हालांकि केंद्र सरकार ने कहा है कि निजी अस्पतालों में टीकाकरण के लिए 250 रुपए का शुल्क लगेगा। लेकिन बिहार में निजी अस्पतालों में टीकाकरण के खर्च का भुगतान राज्य सरकार करेगी। वैसे बिहार सरकार पिछले नवंबर में ही कैबिनेट की बैठक में राज्य में मुफ्त टीकाकरण के फैसले पर मुहर लगा चुकी है। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार भी सोमवार को वैक्सीन लगवाएंगे, आज उनका जन्मदिन भी है।

दोनों उप मुख्यमंत्री भी लगवाएंगे टीका

रविवार को स्वास्थ्य विभाग के प्रधान सचिव प्रत्यय अमृत ने राज्य स्वास्थ्य समिति, बिहार के कार्यालय परिसर में आयोजित प्रेस कांफ्रेंस में बताया कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार बिहार में तीसरे चरण के टीकाकरण अभियान की शुरुआत पटना के IGIMS परिसर में सोमवार को करेंगे। इस मौके पर वे खुद कोरोना वैक्सीन की पहली डोज लेंगे। उनके साथ दोनों उप मुख्यमंत्री व अन्य पदाधिकारी भी इस वैक्सीन की पहली डोज लेंगे।

कल 700 केंद्रों पर टीकाकरण

बिहार में तीसरे चरण के वैक्सीनेशन को लेकर 1600 टीकाकरण केंद्रों पर वैक्सीन देने की तैयारी की गई है। स्वास्थ्य समिति के कार्यपालक निदेशक मनोज कुमार ने बताया कि तीसरे चरण के अभियान मे धीरे-धीरे टीकाकरण केंद्रों की संख्या बढ़ाई जाएगी। कल यानी सोमवार को 700 केंद्रों पर टीकाकरण कार्य शुरू होगा। इसके बाद 15 मार्च तक टीकाकरण केंद्रों की संख्या बढ़ाकर 1000 की जाएगी। 16 से 31 मार्च तक 1200 टीकाकरण केंद्रों का, 01 से 15 अप्रैल तक 1500 केंद्रों का संचालन होगा। वहीं, 16 से 30 अप्रैल तक 1600 केंद्रों पर टीकाकरण कार्य किया जाएगा।

टीकाकरण के लिए कराना होगा वेरिफिकेशन

60 साल से ज्‍यादा उम्र वाला हर व्‍यक्ति टीकाकरण के योग्‍य होगा। इसके अलावा 45 साल से ज्‍यादा उम्र वाले ऐसे लोग, जिन्‍हें पहले से ऐसी बीमारियां हैं, जिनसे उन्‍हें कोविड-19 का ज्‍यादा खतरा है, वे भी टीका लगवा सकेंगे। अभी केवल हेल्‍थ केयर वर्कर्स और फ्रंटलाइन वर्कर्स को वैक्‍सीन दी जा रही है। सरकार ने अभी तक बीमारियों की लिस्‍ट जारी नहीं की है। हालांकि अधिकारियों के अनुसार हाइपरटेंशन, डायबिटीज, कैंसर के अलावा दिल, गुर्दे और फेफड़े से जुड़ी कुछ बीमारियों को भी इसमें शामिल किया जा सकता है।

क्या करना होगा

टीकाकरण केंद्र पर को-मॉर्बिडिटीज वाले लोगों को एक सर्टिफिकेट दिखाना होगा। यह सर्टिफिकेट किसी रजिस्‍टर्ड मेडिकल प्रैक्टिशनर की तरफ से अटेस्‍ट किया होना चाहिए। सरकार ने 12 तरह के पहचान पत्रों की लिस्‍ट जारी की है। इसके अलावा मतदाता सूची से भी मिलान किया जाएगा। आप आधार नंबर, ड्राइविंग लाइसेंस, हेल्‍थ इंश्‍योरेंस स्‍मार्ट कार्ड, मनरेगा जॉब कार्ड, वोटर ID, पैन कार्ड, बैंक/पोस्‍ट ऑफिस पासबुक, पासपोर्ट, पेंशन डॉक्‍युमेंट, MP/MLA/MLC का ID कार्ड, सरकारी कर्मचारियों का सर्विस ID कार्ड, नैशनल पॉपुलेशन रजिस्‍टर के तहत जारी स्‍मार्ट कार्ड में से किसी एक से खुद को वेरिफाई करा सकते हैं।

पोर्टल नहीं हो पाया है अपडेट

1 मार्च से तीसरे चरण का वैक्सीनेशन होना है लेकिन 24 घंटे पहले तक रजिस्ट्रेशन की कोई तैयारी नहीं है। आम लोगों को कहां रजिस्ट्रेशन कराना है, यह वैक्सीनेशन में लगे अधिकारियों को भी नहीं पता है। फर्स्ट फेज में हेल्थ और फ्रंटलाइन वर्करों का वैक्सीनेशन Co-Win पोर्टल पर रजिस्ट्रेशन के बाद किया गया, दूसरे फेज में आम लोगों के वैक्सीनेशन के लिए पोर्टल का नया वर्जन Co-Win 2 लाया गया लेकिन यह काम नहीं कर रहा है। वैक्सीनेशन के लिए 24 घंटे पहले रजिस्ट्रेशन कराना था लेकिन रविवार की शाम तक पोर्टल को अपडेट करने का काम चल रहा था। दो तरह की व्यवस्था बनाई गई है। एक घर बैठे ही ऑनलाइन Co-Win 2 पोर्टल पर खुद से रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं या फिर सेशन साइट पर जाकर ऑन स्पॉट रजिस्ट्रेशन कर वैक्सीन ले सकते हैं। सोमवार से वैक्सीनेशन होना है लेकिन रविवार की शाम तक पोर्टल चालू नहीं हो पाया है। ऐसे में कहां रजिस्ट्रेशन होगा, इसे बताने वाला कोई नहीं।

Source: Dainik Bhaskar

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *