दशमेश पिता गुरु गोविंद सिंह जी के जयंती पर पटना साहिब पहुंचे CM नीतीश, गुरुद्वारे में टेका मत्था

खबरें बिहार की

Patna: सिखों के दसवें गुरु गोविंद सिंह की आज जयंती (Guru Gobind Singh Jayanti 2021) है. सिख धर्म (Sikh Dharm) के लोग इस दिन को प्रकाश पर्व के रूप में मनाते हैं. खालसा पंथ के संस्थापक गुरु श्री गुरु गोविंद सिंह महाराज की 354वें प्रकाश उत्सव पर पटना साहिब (Patna Sahib) का नजारा बिलकु्ल बदला हुआ है. इस मौके पर बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार (CM Nitish kumar) पटना सिटी स्थित गुरुद्वारा पहुंचे.

उन्होंने गुरुद्वारे में मत्था टेका और राज्यवासियों की भलाई की प्रार्थना की. इस दौरान मुख्यमंत्री को सरोपा भेंट किया गया. हालांकि कोरोना के कारण श्रद्धालुओं की संख्या को सीमित रखा गया है लेकिन उसके बावजूद बड़ी संख्या में लोग आ रहे हैं. इससे पहले सीएम ने ट्वीट कर कहा था कि दशमेश पिता श्री गुरु गोविंद सिंह जी महाराज की जयंती के अवसर पर समस्त राज्यवासियों एवं देशवासियों विशेषकर सिख भाई-बहनों को हार्दिक बधाई एवं शुभकामनाएं.

सीएमओ से जारी बयान में कहा गया कि गुरु गोविंद सिंह महाराज सर्वशदानी थे. उनका योगदान, त्याग और बहादुरी पूरे विश्वभर में कोई भी भूला नहीं सकता है. वे हम सभी के लिए प्रेरणास्त्रोत हैं. गुरु गोविंद सिंह जी का जीवन त्याग और बलिदान का प्रतीक था और दूसरों की सेवा के लिए समर्पित था. उनका मानना था कि समाज में शांति बहाल करना और आपसी भाईचारे की बेहद जरूरत है.

खालसा पंथ के संस्थापक गुरु श्री गुरु गोविंद सिंह महाराज की 354वें प्रकाश उत्सव पर पटना साहिब का नजारा बिलकु्ल बदला हुआ है. पंजाब समेत देशभर से श्रद्धालुओं का जमावड़ा पटना साहिब में लगा हुआ है. कोरोना लॉकडाउन के कारण पटना सिटी में पिछले 9 महीनों से तख्त श्री हरिमंदिर साहिब गुरुद्वारा में लोग लंगर नहीं छक पा रहे थे.

लेकिन अब एक बार फिर से खाना बनना शुरू हो गया है और लोग लंगर भी छक रहे हैं.लंगर प्रबंधक ने बताया कि प्रकाश पर्व के अवसर पर लंगर की सुविधा 24 घंटे उपलब्ध है.

Source: Prabhat Khabar

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *