CM नीतीश का भाजपा पर तंज, कहा- जब उनके साथ थे तो तारीफ करते थे, अब कुछ काबिल कहते हैं दारू ठीक चीज है

खबरें बिहार की जानकारी

नवादा समाधान यात्रा पर रविवार को नवादा पहुंचे मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा कि 2005 में हमें काम करने का मौका मिला। केंद्र ने महिलाओं को एक तिहाई तो हमने पंचायत व नगर निकाय में 50 प्रतिशत आरक्षण दिया। उन्हें और मजबूत करने के लिए शराबबंदी को लागू किया। इससे महिलाओं का सशक्तीकरण हुआ। हालांकि, तब साथ में रहने वाले इसका समर्थन करते थे, अब हम अलग हो गए तो कुछ काबिल विरोध कर रहे, लेकिन हम विरोधियों के सामने झुकेंगे नहीं।

मुख्यमंत्री ने कहा कि कुछ काबिल कहते हैं दारू ठीक चीज है, पीएंगे। पहले मेरी तारीफ करते थे। आजकल मेरे खिलाफ बोलते भी रहते हैं। हम कहते हैं, मेरे खिलाफ खूब बोलो। शराबबंदी महिलाओं की और सबकी इच्छा से लागू हुई है। सीएम ने इंजीनियरिंग कालेज, नवादा के आडिटोरियम में जीविका दीदियों के साथ संवाद कार्यक्रम के दौरान कहीं।

उन्होंने राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के विचारों को रखते हुए कहा कि शराब पीने वाला इंसान हैवान हो जाता है। शराब आदमी से न सिर्फ उसका पैसा छीन लेती है बल्कि उनकी बुद्धि भी हर लेती है। मुख्यमंत्री ने कहा कि महिलाओं की इच्छा पर शराबबंदी पूरे बिहार में लागू कराई गई है। साल 2015 में जब वे पटना में जीविका दीदियों के साथ एक मीटिंग कर रहे थे तब जीविका की दीदियों ने खड़ी होकर कहा कि शराब बड़ी खराब चीज है, शराबबंदी लागू करिए। इसके बाद साल 2016 में जब उनकी नई सरकार बनी तो शराबबंदी को लागू करवाया। अब इससे पीछे हटने का सवाल ही नहीं होता है।

दनियावां व मछरियावां में तालाब सुंदरीकरण का लिया जायजा

समाधान यात्रा के क्रम में रविवार को मुख्यमंत्री नीतीश दनियावां पहुंचे। चार बजे हेलीकाप्टर से दनियावां हाई स्कूल मैदान में उतरने के बाद सीधे सूर्य मंदिर परिसर स्थित तालाब के सुंदरीकरण का अवलोकन किए। तालाब का अवलोकन करने के बाद स्वागत में खड़े लोगों से मिलकर मछरियावा़ गांव के लिए सड़क मार्ग से प्रस्थान कर गए। मछरियावा गांव में जीविका से जुड़ी महिलाओं से मिलकर उनके कार्यों की प्रशंसा की।

उन्होंने मछरियावा में निर्मित तालाब और उसके चारों ओर किए गए सुंदरीकरण कार्य का भी अवलोकन किया। लगभग 25 मिनट रुकने के बाद वह पटना के लिए प्रस्थान कर गए। दनियावां के तोप गांव में दस वर्ष पूर्व की गई घोषणा को पूरा करने के लिए ग्रामीणों ने सीएम को स्मार पत्र सौंपा।

Leave a Reply

Your email address will not be published.