पेशे से इंजीनियर,MNC की नौकरी छोड़1 रुपए में सिखाता गिटार,बच्चों समेत पुलिसवाले भी हैं स्टूडेंट

प्रेरणादायक

लोगों को एक बार पैसे की आदत लग गई तो वो फिर कभी छूट नहीं पाती। ऐसा कहा जाता है लेकिन इस बात को की लोगों ने गलत साबित कर दिया है। आज हम एक ऐसे शख्स के बारे में बात करेंगे जिसने अपनी सिविल इंजिनियर की नौकरी छोड़ दी। बता दें इस शख्स ने कुछ दिनों तक MNC में काम किया। फिर नौकरी छोड़ दी और एक रुपए लेकर बच्चों को गिटार सिखाने लगा। जी हां। दिल्ली के आंध्रा भवन में हर दिन बड़ी से दाढ़ी रखे हुए एक शख्स बच्चों को गिटार सिखाता दिख जाता है। वो सिखाने के लिए बच्चों को गिटार मुहैया भी कराता है। बदल में सिर्फ एक रुपए लेता है। ये है आंध्र प्रदेश के रहने वाले एसवी राव, जिन्हें लोग गिटार राव के नाम से भी जानते हैं।

आंध्र प्रदेश के रहने वाले हैं एसवी राव का सपना है कि वो पीएम को स्वच्छ भारत अभियान की तर्ज पर संगीत भारत कैंपेन चलाने के लिए राजी करें। राव के मुताबिक अब तक वो एक हजार से ज्यादा लोगों को गिटार सिखा चुके हैं। उनके स्टूडेंट्स में कुछ तो दिल्ली पुलिस में हैं। जो दिनभर काम करते हैं और शाम के वक्त उनके पास गिटार सीखने आते हैं। 55 वर्षीय एसवी राव रोज तीन जगह संगीत की क्लासेज देते हैं। दोपहर 2 बजे से शाम 6 बजे तक वह विजय चौक पर और शाम 6 से 9 बजे तक इंडिया गेट पर गिटार सिखाते हैं।

एसवी राव ने MNC में भी काम किया है, लेकिन 2009 में जॉब छोड़ दी। उन्होंने कहा कि वो कर्ज में डूब गए थे। परिवार से भी अलग हो गए थे। इसके बाद 2010 में वह तिरुपति मंदिर गए और एक संगीत स्कूल से संगीत सीखा। धीरे-धीरे वह डिप्रेशन से बाहर आने लगे और अपने परिवार में लौट गए। इसके बाद उन्होंने पाया कि उन्हें संगीत से लगाव हो गया था।

तिरुपति के एसवी म्यूजिक कॉलेज से संगीत की शिक्षा लेने के बाद अब जल्द वह तेलंगाना यूनिवर्सिटी से म्यूजिक में ग्रैजुएट हो जाएंगे और उसके बाद पीएचडी करने का भी प्लान है। राव बांसुरी, कीबोर्ड औप वॉयलिन भी बजाते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.