चोटी पर तेजस्वी की टिप्पणी से बिफरे गिरिराज, बोले- दाढ़ी और टोपी पर बोलकर दिखाएं

कही-सुनी राजनीति

बिहार के डिप्टी सीएम तेजस्वी यादव ने पिछले दिनों गिरिराज सिंह पर टिप्पणी करते हुए कहा था कि एक फुट की चोटी रखने से कोई ज्ञानी नहीं हो जाता। अब इस पर गिरिराज सिंह ने तीखी प्रतिक्रिया व्यक्त की है और उन्हें चैलेंज दिया है। गिरिराज सिंह ने मीडिया से बात करते हुए कहा, ‘आप युवराज हैं, मैं किसान का बेटा हूं। चोटी और टीका भारत की संस्कृति है। इसको गाली न दें। आपकी हिम्मत है कि दूसरे धर्म के लोगों की दाढ़ी और टोपी पर कुछ बोल दें। वह ऐसा नहीं कर सकते हैं, उनमें हिम्मत ही नहीं होगी।’ गिरिराज सिंह ने कहा कि उन्हें भारत की संस्कृति का अपमान करने का कोई हक नहीं है।

यही नहीं गिरिराज सिंह ने कहा कि चाचा और भतीजा में झूठे वादों का कॉम्पीटिशन चल रहा है। उन्होंने कहा कि भतीजे ने तो 10 लाख नौकरियों का वादा किया था और अब चाचा ने उनसे भी आगे निकलते हुए 20 लाख की बात कर दी है। यही नहीं गिरिराज सिंह ने कहा कि नीतीश कुमार ने एक रिकॉर्ड भी बना दिया है। उन्होंने करीब 20 सालों तक सरकार चलाई है, लेकिन हमेशा दूसरे लोगों के ही भरोसे रहे और कभी अपने दम पर सत्ता में नहीं आ पाए। केंद्रीय मंत्री ने कहा कि नीतीश कुमार को पहली बार भी और आखिरी बार भी भाजपा ने ही बिना बहुमत के ही मुख्यमंत्री बनाया है।

अमरलता है नीतीश कुमार, दम हो तो खुद के दम पर बढ़ें

नीतीश कुमार पर तीखा हमला बोलते हुए गिरिराज सिंह ने कहा कि वह तो अमरलता की बेल की तरह हैं। अमरलता की बेल हमेशा दूसरे वृक्षों पर लदकर ही आगे बढ़ती है। ऐसा ही नीतीश कुमार के भी साथ है। वह आज तक वृक्ष नहीं बन पाए हैं। उन्होंने कहा कि अमरलता अपने दम पर बढ़ रही है, यह तो तभी माना जा सकता है, जब वह खुद ही खड़ी हो जाए। उन्होंने कहा कि अमरलता हमेशा दूसरे पेड़ों पर ही लद जाता है और उसके पत्तों को ढक देता है और खुद का रंग ही दिखता है। गिरिराज सिंह ने इस तंज के जरिए दरअसल यह कहने की कोशिश की है कि नीतीश कुमार कम सीटों के बाद भी कैसे सीएम बन रहे हैं और दूसरे दल ज्यादा सीटों के बाद उनकी लीडरशिप को स्वीकार कर रहे हैं।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.