चिराग पासवान की तबीयत में नहीं हो रहा सुधार, 15 दिनों से हैं टाइफाइड से पीड़ित

राजनीति

Patna: लोक जनशक्ति पार्टी के सुप्रीमो चिराग पासवान की तबीयत दिन-प्रतिदिन खराब होती जा रही है. जानकारी के अनुसार जमुई सांसद पिछले 15 दिनों से बीमार चल रहे हैं. टाइफाइड होने की वजह से उनका बुखार नहीं उतर रहा है. ऐसे में आज चिराग ने डॉक्टरों की सलाह पर एम.आर.आई. करवाया है. चिराग के सहयोगी सौरभ पांडे ने बताया कि उनकी तबीयत ज्यादा खराब होने की वजह से उन्हें घर पर ही पानी चढ़ाया जा रहा है. डॉक्टरों की देखरेख में दिल्ली स्थित आवास पर ही उनका इलाज जारी है.

10 मई को दी थी कोरोना के लक्षण दिखने की जानकारी
आपको बता दें कि इससे पहले चिराग पासवान ने 10 मई को ट्वीट करके कोरोना के लक्षण दिखने की बात कही थी. उन्होंने लोगों से कहा था आरटीपीसीआर टेस्ट कराया है और रिपोर्ट आने का इंतजार है.

17 मई को बतायी टाइफाइड होने की बात
वहीं कोरोना जांच की रिपोर्ट निगेटिव आने के बाद चिराग ने 17 मई को ट्वीट करके जानकारी दी थी. साथ ही उन्होंने टाइफाइड होने की जानकारी भी लोगों के संग साझा की थी. अपने ट्वीट में चिराग ने लिखा था कि कोरोना के लक्षण जैसे बुखार और सिर में दर्द होने के कारण मैंने RT- PCR टेस्ट होने दे दिया था. कोरोना रिपोर्ट नेगेटिव आने के बाद अन्य संभावित बीमारियों की जांच करवाई. संभवतः टाइफाइड होने की बात रिपोर्ट में सामने आ रही है. डॉक्टर ने कुछ और टेस्ट करवाने को कहा है.

कोरोना को मुंहतोड़ जवाब देने की बात कही
लोजपा प्रमुख ने 17 मई को ही एक और पोस्ट कर कोरोना के समय में लोगों के बीच नहीं रह पाने को लेकर दु:ख जताया था. उन्होंने अपने ट्वीट में कोरोना काल में लोगों की मदद में लगे लोगों के लिए ईश्वर से प्रार्थना करते हुए उन्हें शक्ति देने की बात कही.

पासवान ने लिखा, “इस अतिमहत्वपूर्ण समय में आप सब के बीच नहीं रहने का खेद है. लेकिन मुझे पता है पार्टी के सभी लोग अपने स्तर से आप सब की सेवा में लगे हैं. भगवान से प्रार्थना है की सभी मददगारों को शक्ति दें ताकि इस कठिन परिस्तिथि को मुंहतोड़ जवाब दिया जा सके.

बताते चलें कि लोजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष और जमुई से सांसद चिराग पासवान टाइफाइड से ग्रसित हैं और कोरोना संक्रमण के कारण उनका इलाज घर पर ही डॉक्टरों की देखरेख में जारी है.

Source: Etv Bharat Bihar

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *