संयुक्त राष्ट्र ने चीन को किया बाहर, कहा- बिना वजह भारत को धमकाने की सजा है ये

अंतर्राष्‍ट्रीय खबरें

New Delhi : संयुक्त राष्ट्र ने आतंक विरोधी वैश्विक समिति से चीन को बाहर कर दिया है। रविवार को संरा की समिति ने चीन पर आतंकवाद और अस्थिरता पैदा करने के आरोप लगाते हुए उसे बाहर कर दिया।

सरां ने कहा है कि डोकलाम विवाद पर चीन ने बेवजह भारत के साथ तनाव बनाया है। इस तनाव की वजह से पूरे एशिया में भय का माहौल है।

सरां ने चीन को ये कहते हुए बाहर कर दिया कि चीन को पहले भारत के साथ मिलकर एशिया में शांति लानी होगी। अन्यथा चीन को सारी समितियों से बाहर किया जाएगा।

वहीं, संयुक्त राष्ट्र ने आतंकवाद विरोधी वैश्विक टीम के लिए भारत से अपने नामित व्यक्ति का नाम भेजने को कहा है। यह वैश्विक टीम आतंकवादी संगठनों और उसके प्रमुखों पर प्रतिबंध लगाने का फैसला लेने वाली संयुक्त राष्ट्र की समिति की सहायता करेगी।



विश्व निकाय के आग्रह पर गृह और वित्त मंत्रालय को योग्य व्यक्ति का चुनाव करने को कहा गया है। चुने गए व्यक्ति का नाम वैश्विक टीम के लिए भेजा जाएगा। सूत्रों ने रविवार को इस आशय की जानकारी दी। पैनल में भारतीय सदस्य होने पर आतंकवाद के खिलाफ प्रयासों को बल मिलने की उम्मीद है।

भारत को पाकिस्तानी आतंकवादी संगठन जैश-ए-मोहम्मद के प्रमुख मौलाना मसूद अजहर पर शिकंजा कसने में मदद मिल सकती है। मसूद अजहर को पिछले वर्ष पठानकोट वायुसैनिक अड्डे पर हुए आतंकवादी हमले का मुख्य साजिशकर्ता माना जाता है। भारत इस आतंकी सरगना और उसके संगठन को संयुक्त राष्ट्र की अल-कायदा और आइएस से जुड़े संगठनों और आतंकियों की प्रतिबंध सूची में शामिल कराना चाहता है। भारत के इस प्रयास में चीन हर बार बाधा उत्पन्न करता है।




वैश्विक टीम में योग्य व्यक्ति को नामित करने की मांग की गई है। नामित व्यक्ति विश्लेषणात्मक समर्थन और प्रतिबंध निगरानी टीम का सहयोग करेंगे।

यह टीम 1267/1989/2253 आइएस और अल-कायदा प्रतिबंध समिति के लिए होगी। सूत्र ने कहा कि भारत ने पिछले वर्ष फरवरी में अपने नामित लोगों के नाम भेजे थे। लेकिन भेजे गए नाम में किसी को भी टीम में नहीं लिया गया।

हर ताज़ा अपडेट पाने के लिए के फ़ेसबुक पेज को लाइक करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *