पटना एम्स में बच्चों पर होगा कोरोना टीके का ट्रायल , 1000 से 2000 बच्चों पर होगा ट्रायल

खबरें बिहार की

पटना: अब बड़ों के बाद बच्चों पर भी टीका का ट्रायल होगा। कोरोना महामारी से बचाने के लिए भारत बायोटेक देशभर में बच्चों पर टीका का ट्रायल शुरू करेगा। इसमें पटना एम्स को भी शामिल किया गया है। पटना एम्स के कोविड वार्ड के नोडल पदाधिकारी डॉ. संजीव कुमार ने यह जानकारी दी। 

पटना एम्स को बच्चों पर कोवैक्सीन के ट्रायल की अनुमति मिल गई है। पटना एम्स में इसी माह के अंत तक 2 से 18 साल तक के बच्चों का वैक्सीन ट्रायल शुरू होगा। जिसको लेकर एम्स प्रशासन ने तैयारी शुरू कर दी है। इसके लिए शिशु रोग विशेषज्ञों की एक समिति का भी गठन कर लिया गया है।

 

एम्स के नोडल ऑफिसर डॉ. संजीव ने हिन्दुस्तान से बातचीत में कहा कि कोवैक्सीन का पहला ट्रायल भी पटना एम्स में ही हुआ था और उस अनुभव का फायदा पटना एम्स को मिलेगा। उन्होंने कहा कि डीजीसीआई से ट्रायल की हरी झंडी मिलते ही भारत बायोटेक ने पटना एम्स को अनुमति दी है। ट्रायल 1000 से 2000 बच्चों पर होगा।

एम्स प्रशासन अभिभावकों से बच्चों को ट्रायल में शामिल करने की अपील भी करेगा। स्वदेशी टीका का ट्रायल 18 वर्ष से नीचे के बच्चों पर होगा। अभी इसकी तिथि तय नहीं की गई है। जल्द ही ट्रायल शुरू होगा। इससे पहले भी पटना एम्स में 18 वर्ष से अधिक उम्र वालों पर को-वैक्सीन का सफलतापूर्वक ट्रायल हुआ था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *