chhathpuja 2017

बिहार में छठ की तैयारी, 2 दिन बाद नहाय खाय से शुरू होगा सूर्य उपासना का महापर्व, पहला अघ्र्य 26 को

आस्था

इस वर्ष सूयरेपासना का महापर्व छठ का चार दिवसीय अनुष्ठान नहाय-खाय के साथ मंगलवार (24 अक्टूबर) से शुरू होगा. भगवान भास्कर को पहला घ्र्य 26 अक्टूबर को दिया जाएगा सायंकालीन अघ्र्य 26 अक्टूबर की शाम.

जबकि 27 अक्टूबर की सुबह सूर्य देवता को प्रात:कालीन अघ्र्य प्रदान करने के साथ इस अनुष्ठान का समापन होगा. आचार्य जयकुमार पाठक ने बताया कि कार्तिक शुक्ल पक्ष पंचमी बुधवार (25 अक्टूबर) को व्रती खरना करेंगे.

पटना के जिलाधिकारी संजय कुमार अग्रवाल ने शनिवार को बताया कि फिलहाल गंगा के घाटों के एप्रोच (संपर्क) पथों को बनाने का कार्य चल रहा है.

chhathpuja 2017

खास बातें:

  • सूर्य को पहला अघ्र्य 26 अक्टूबर को दिया जाएगा.
  • सभी घाटों में 80 प्रतिशत काम पूरा हो चुका है.
  • अगले तीन दिनों में सफाई और रोशनी की व्यवस्था पूरी कर ली जाएगी.

सूयरेपासना के पर्व छठ को लेकर बिहार की राजधानी पटना सहित राज्य के सभी क्षेत्रों में तैयारियां जोर-शोर से चल रही हैं. पटना में गंगा के घाटों की मरम्मत और सफाई का कार्य लगभग पूरा हो गया है. सूर्य को पहला अघ्र्य 26 अक्टूबर को दिया जाएगा.

Chhath surya mandir

पटना के जिलाधिकारी संजय कुमार अग्रवाल ने शनिवार को बताया कि फिलहाल गंगा के घाटों के एप्रोच (संपर्क) पथों को बनाने का कार्य चल रहा है. उन्होंने कहा कि सभी घाटों में 80 प्रतिशत काम पूरा हो चुका है, अगले तीन दिनों में सफाई और रोशनी की व्यवस्था पूरी कर ली जाएगी.

व्रतियों को कोई कष्ट नहीं हो, इसका ख्याल रखा जा रहा है. अग्रवाल ने बताया कि महेंद्रू, कलेक्ट्रट और बांस घाट के एक साथ जुड़ जाने के कारण इस क्षेत्र में गंगा तट का एक जोन बनाया गया है.

Chhath surya mandir

इस जोन तक पहुंचने के लिए छह संपर्क पथों का निर्माण कराया गया है. दो पथों पर लोग सिर्फ पैदल चल सकेंगे. शौचालयों का भी निर्माण कराया जा रहा है. उन्होंने बताया कि छठ के मौके पर शहरी और ग्रामीण क्षेत्र के सभी छठ घाटों और तालाब, पोखरों जहां छठ पर्व मनाया जााता है, वहां गोताखोरों की तैनाती की जाएगी.

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.