चांद छूने की कोशिश में चूके चंद्रयान-2 के विक्रम लैंडर की जानकारी मिलने की उम्मीद एक बार फिर जगी है। अमेरिकी अंतरिक्ष एजेंसी नासा का लूनर रिकनायसेंस ऑर्बिटर (एलआरओ) जल्द उस स्थान के ऊपर से गुजरेगा, जहां विक्रम के गिरने की आशंका जताई गई है।

एलआरओ 17 सितंबर को भी विक्रम की लैंडिंग साइट के करीब से गुजरा था। तब उसने क्षेत्र की हाई-रिजोल्यूशन तस्वीरें कैद की थीं। हालांकि, वह विक्रम की स्थिति या तस्वीर जुटाने में नाकाम रहा था। 
नासा ने अब कहा है कि जब लैंडिंग क्षेत्र से हमारा ऑर्बिटर गुजरा तो वहां धुंधलापन था। इसलिए छाया में अधिकांश भाग छिप गया। संभव है कि विक्रम परछाई में छिपा हुआ है। 

नासा ने कहा कि एलआरओ जब अक्तूबर में लैंडिंग साइट के ऊपर से गुजरेगा, तब वहां प्रकाश तस्वीर खींचने के अनुकूल होगा। इस दौरान एक बार फिर विक्रम की स्थिति जानने और उसकी तस्वीर लेने की कोशिश की जाएगी।

Sources:-Hindustan

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here