चलती ट्रेन में बच्चे का जन्म, डॉक्टर के इंतजार में एक घंटे तक प्लेटफॉर्म पर दर्द से तड़पती रही महिला; यात्रियों ने जताया आक्रोश

खबरें बिहार की जानकारी

मुजफ्फरपुर जंक्शन पर शुक्रवार सुबह नवजात शिशु के साथ समस्तीपुर की महिला एक घंटे तक तड़पती रही। समस्तीपुर के कल्याणपुर निवासी महिला अपने परिजन के साथ दिल्ली से दरभंगा जाने वाली क्लोन एक्सप्रेस के स्लीपर कोच से लौट रही थी। इस दौरान भगवानपुर के समीप चलती ट्रेन में महिला ने बच्चे को जन्म दिया। यात्रियों ने मामले की सूचना रेल कर्मियों को दी। ट्रेन जंक्शन पर सुबह 7.23 बजे आयी।

आरपीएफ की महिला अधिकारी की देखरेख में महिला व शिशु को ट्रेन से प्लेटफॉर्म पर उतारा गया। इस दौरान ट्रेन प्लेटफॉर्म पर 15 मिनट रुकी रही। इस संबंध में रेलवे के डॉक्टर व पारा मेडिकल कर्मियों को सूचित किया गया। डॉक्टर के इंतजार में महिला एक घंटे तक प्लेटफॉर्म पर नवजात शिशु के साथ तड़पती रही। परिजन डॉक्टर का इंतजार करते रहे। महिला व शिशु काफी देर तक प्लेटफॉर्म पर रोते रहे।

डॉक्टर के आने में देरी पर यात्रियों ने आक्रोश जताया। महिला काफी दर्द में थी। साढ़े आठ बजे रेलवे के डॉक्टर व पारा मेडिकल कर्मी पहुंचे। इसके बाद दोनों को सदर अस्पताल में भर्ती कराया गया। आरपीएफ की महिला अधिकारी व जवानों के सहयोग से किसी तरह दोनों को सदर अस्पताल भेजा गया। वहां इलाज होने पर जच्चा-बच्चा स्वस्थ बताया गया है।

इस संबंध में रेलवे की ओर से दावा किया गया कि सूचना मिलते ही डॉक्टर व उनकी टीम मौके पर पहुंचकर महिला व बच्चे का इलाज की। इसके बाद एंबुलेंस से अस्पताल भेजा गया। डॉक्टर को पहुंचने में 20 से 25 मिनट समय लगा है। महिला के पति रेलवे में कार्यरत हैं। उन्होंने बताया कि दिल्ली में डॉ. ने एक माह बाद बच्चे के जन्म की जानकारी दी थी। इसलिए 15 दिन पहले ही दिल्ली से घर के लिए रवाना हुआ। हाजीपुर में लेबर पेन होने पर टीटीई को सूचना दी।

अधिकारी बोले

डीआरएम नीलमणि ने कहा, ‘इलाज में देरी की शिकायत गंभीर है। इस मामले की जानकारी लेकर कार्रवाई की जायेगी। यात्रियों की चिकित्सा के लिए जंक्शन पर डॉक्टर व पारा मेडिकल कर्मियों की तैनाती है।’

Leave a Reply

Your email address will not be published.