सीबीएसई 2022-23 परीक्षा : दसवीं और 12वीं सिलेबस में कटौती नहीं, वस्तुनिष्ठ प्रश्न भी हुए कम

खबरें बिहार की जानकारी

केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (सीबीएसई) की ओर से दसवीं और 12वीं बोर्ड के सत्र 2022-23 की परीक्षा में 20 फीसदी ही वस्तुनिष्ठ प्रश्न पूछे जाएंगे। 2023 की परीक्षा के सिलेबस में कोई कटौती नहीं की गई है। न ही किसी चैप्टर को हटाया गया है। सभी चैप्टर से प्रश्न पूछे जाएंगे। यह जानकारी बोर्ड द्वारा सभी स्कूलों को भेज दी गई है।

बोर्ड की मानें तो कोरोना संक्रमण के कारण वस्तुनिष्ठ प्रश्नों की संख्या 50 फीसदी की गई थी लेकिन 2023 की दसवीं और 12वीं बोर्ड परीक्षा में 20 फीसदी ही वस्तुनिष्ठ प्रश्नों को रखा गया है। वस्तुनिष्ठ प्रश्न में मल्टीपल च्वॉइस वाले प्रश्न रहेंगे। इसके अलावा क्षमता आधारिक प्रश्नों की संख्या बढ़ाई गयी है। ये ऐसे प्रश्न होते हैं जिसका उत्तर समझ के साथ देनी होगी। ऐसे प्रश्नों की संख्या दसवीं और 12वीं दोनों में 20 फीसदी से अधिक होगी। जबकि पहले दस फीसदी ही ऐसे प्रश्न पूछे जाते थे। इतना ही नहीं, अब क्षमता आधारित प्रश्न, मल्टीपल च्वॉइस, केस स्टडी, लघु उत्तरीय प्रश्न आदि भी रहेंगे। ज्ञात हो कि 15 फरवरी 2023 से दसवीं और 12वीं बोर्ड परीक्षा शुरू होगी। इससे पहले 15 जनवरी 2023 को प्रायोगिक परीक्षा शुरू होगी।

कॉरिकुलम से मिलेगी सारी जानकारी
बोर्ड ने वेबसाइट पर नए कॉरिकुलम को डाल दिया है। इससे छात्र सिलेबस की जानकारी के साथ अंक पैटर्न भी जान पाएंगे। बोर्ड ने आंतरिक मूल्यांकन के 20 फीसदी अंकों में कोई बदलाव नहीं किया है। आंतरिक मूल्यांकन 20 फीसदी ही रहेगा।

सिलेबस में किया गया बदलाव

-चैप्टर से ऐसे प्रश्न पूछे जाएंगे, जिसके उत्तर के लिए बच्चे सोचें।


-वास्तविक जीवन से जुड़े प्रश्नों की संख्या विषयवार अधिक होगी।

-दिनचर्या से जुड़े प्रश्न होंगे।
-विषयवार आए दिन होने वाली घटनाओं से जुड़े प्रश्न होंगे।

सीबीएसई सिटी कोऑडिनेटर राजीव रंजन ने बताया कि सिलेबस की जानकारी छात्रों को दे दी गई है। क्योंकि दो साल सिलेबस में कटौती की गई थी। लेकिन अगले साल की परीक्षा में हर चैप्टर से प्रश्न पूछे जाएंगे। इसके साथ ही परीक्षा पैटर्न में भी बदलाव किया गया है।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.