लॉकडाउन के दौरान बिहार में 12.48 प्रतिशत घटा कोरोना संक्रमण का मामला, 14.44 फीसदी बढ़ी सूबे में रिकवरी दर

खबरें बिहार की

पटना: कोरोना संक्रमण को लेकर राज्य में लगाया गया लॉकडाउन संक्रमण चेन को तोड़ने में सफल रहा है. पांच मई से लेकर 22 मई यानी कुल 18 दिनों के दौरान संक्रमण दर में लगभग 12.48 फीसदी की कमी आयी है. इसके अलावा पांच मई से लेकर 22 मई तक राज्य की रिकवरी दर में भी उछाल आयी है. इस दौरान 14.44 फीसदी के करीब रिकवरी दर बढ़ी है.

गौरतलब है कि राज्य में चार व पांच मई को संक्रमण दर 15 फीसदी से अधिक थी, जबकि अब मात्र 3.11 फीसदी तक पहुंच गयी है. वहीं चार व पांच मई को रिकवरी दर क्रमश: 78.36 और 78.38 फीसदी दर्ज की गयी थी. जबकि 22 मई को यह 92.80 फीसदी पहुंच गयी है. भले ही कोरोना संक्रमण की दर कम हुई हो, रिकवरी दर में भारी इजाफा हुआ हो, लेकिन कोरोना संक्रमण से मौत के मामलों में अभी स्थिति उतनी बेहतर नहीं हो पायी है.

आंकड़े बताते हैं कि राज्य में चार मई तक 2926 मौतें हो चुकी थी, जबकि 22 मई को यह आंकड़ा 4442 दर्ज किया गया, मतलब साफ है कि मात्र 18 दिनों में करीब 1516 लोगों की मौत कोरोना से हुई है,तो अपने आप में चिंताजनक है.भले ही कोरोना संक्रमण की दर कम हुई हो. रिकवरी दर में भारी इजाफा हुआ हो, लेकिन कोरोना संक्रमण से मौत के मामलों में अभी स्थिति उतनी बेहतर नहीं हो पायी है.

आंकड़े बताते हैं कि राज्य में चार मई तक 2926 मौत हो चुकी थी, जबकि 21 मई को यह आंकड़ा 4337 दर्ज किया गया, मतलब साफ है कि मात्र 17 दिनों में करीब 1413 लोगों की मौत कोरोना से हुई है,तो अपने आप में चिंताजनक है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *