कैल्शियम की कमी होने पर शरीर देता है ये संकेत

Health

कैल्शियम हमारे शरीर के लिए बहुत जरूरी तत्व है. हड्डियों को मजबूत बनाने, जोड़ों को स्वस्थ रखना, दांतों को मजबूत बनाना, नसों, ब्लड, मांसपेशियों और दिल की कमजोरी दूर करने के लिए भी कैल्शियम बहुत जरूरी है. हमारे शरीर में हड्डियों और दांतो में 99 प्रतिशत कैल्शियम होता है और 1 प्रतिशत खून और मांसपेशियों में होता है. कैल्शियम खून की कोशिकाओं को भी मजबूत बनाता है.

कैल्शियम की कमी को हाइपोकैल्शिमिया के नाम से भी जाना जाता है. शरीर में कैल्शियम की कमी होने पर कई तरह की परेशानी होने लगती हैं. खासतौर से महिलाओं में कैल्शियम की कमी ज्यादा होती है. बच्चे को दूध पिलाने वाली महिलाएं और 40 के पार वाली महिलाओं कैल्शियम की कमी अधिकतर देखी जाती है और उम्र के साथ-साथ उनकी हड्डियां और जोड़े कमजोर होने लगते हैं.

महिलाओं में महिलाओं को एक दिन में 1,000 मिलीग्राम और 50 से अधिक उम्र की महिलाओं के लिए एक दिन में 1,200 मिलीग्राम कैल्शियम की आवश्यकता होती है. ऐसे में आपको अपने शरीर में इसकी कमी नहीं होने देनी है तकि आपकी सेहत बनी रहे. इसलिए आपको अपने खाने पीने का खास ख्याल रखने की जरूरत है. आप चाहें तो कैल्शियम की गोली खा सकते हैं. इसके अलावा अपने खाने में कैल्शियम रिच फूड को शामिल करें. जानते हैं कैल्शियम की कमी के संकेत और इसे कैसे पूरा करें.

कैल्शियम की कमी के लक्षण

  • शरीर में कैल्शियम की कमी होने पर हड्डियां कमजोर और दर्द होने लगता है.
  • कैल्शियम की कमी होने पर मांसपेशियों में ऐंठन होती है.
  • याद्दाश्त में भी कमी आ जाती है.
  • शरीर सुन्न होने लगता है और हाथ-पैरों में झुनझुनाहट रहती है.
  • पीरियड में गड़बड़ी होने लगती है.
  • दांत कमजोर हो जाते हैं.
  • कैल्शियम की कमी से ब्लड क्लॉटिंग भी होने लगती है.
  • बालों का झड़ना
  • नींद न आना
  • तनाव और डिप्रेशन की स्थिति

शरीर को कितने कैल्शियम की जरूरत होती है?

  • बढ़ती उम्र के बच्चों के लिए रोज 500-700 मिलीग्राम कैल्शियम
  • युवाओं के लिए रोज 700-1,000 मिलीग्राम कैल्शियम
  • प्रेग्नेंट महिलाओं के लिए रोज 1,000 से 1200 मिलीग्राम कैल्शियम
  • बच्चो को दूध पिलाने वाली महिलाओं के लिए रोज करीब 2,000 मिलीग्राम कैल्शियम

कैल्शियम के मुख्य स्रोत

  • कैल्शियम की कमी को दूर करने के लिए आप अपने खाने में दूध, ब्रोकोली और टोफू शामिल करें, इसमें भरपूर मात्रा में कैल्श्यिम होता है.
  • 1 चम्मच तिल में करीब 88 मिलीग्राम कैल्शियम होता है. आप सलाद, खाने या सूप में डालकर इसे खा सकते हैं.
  • 1 गिलास गर्म पानी में 1 चम्मच जीरा मिलाकर पानी को छानकर पी लें. दिन में 2-4 बार इसे पीने से कैल्शियम की कमी दूर हो सकती है.
  • बादाम खाने से भी आप शरीर में काफी हद तक कैल्शियम की कमी को पूरा कर सकते हैं.
  • आप खाने में हरी पत्तेदार सब्जियां, बीन्स शामिल कर सकते हैं. बीन्स में काफी मात्रा में कैल्शियम और प्रोटीन होता है.
  • आयुर्वेद के अनुसार वर्जिन कोकोनट ऑयल सेहत के लिए काफी फायदेमंद है। इसमें एंटिएलर्जिक, एंटिबायॉटिक, एंटीफंगल और
  • एंटीबैक्टीरिया के साथ-साथ कैल्शियम जैसे तत्व पाए जाते हैं। इसलिए रोजाना सुबह 1 चम्मच वर्जिन कोकोनट ऑयल का सेवन करे।
  • नॉनवेज खाने वाले लोग सीफूड खा सकते हैं. आप सैल्मन, टूना, मेकरेल और फिश खा सकते हैं.
  • गिलोय में गिलोइन नामक ग्लूकोसाइड और टीनोस्पोरिन, पामेरिन एवं टीनोस्पोरिक एसिड, कॉपर, आयरन, फास्फोरस, जिंक,कैल्शियम,
  • मैग्नीशियम पाया जाता है। इससे आपकी हड्डियां मजबूत होगी। इसके लिए आप गिलोय सत्व, गिलोय जूस या गिलोय स्वरस और गिलोय
  • चूर्ण का सेवन कर सकते हैं।
  • फलों में आप रोज 2 संतरे खाएं, इससे शरीर में कैल्शियम की कमी पूरी हो जाएगी.
  • कैल्शियम के साथ शरीर में विटामिन डी3 की भी जरूरत होती है. इससे शरीर को कैल्शियम को अवशोषित करने में मदद मिलती है.

योगा से होगा

कपालभाति प्राणायाम को करने से पैंक्रियाज के बीटा सेल्स दोबारा एक्टिव हो जाते हैं। जिससे तेजी से इंसुलिन बनने लगता है। इसके साथ ही यह हड्डियों को मजबूत बनाने में मदद करता है।

अनुलोम विलोम करने सबसे पहले पद्मासन की मुद्रा में बैठ जाएं। अब दाएं हाथ की अनामिका और सबसे छोटी उंगली को मिलाकर बाएं नाक पर रखें और अंगूठे को दाएं वाले नाक पर लगा लें। तर्जनी और मध्यमा को मिलाकर मोड़ लें। अब बाएं नाक की ओर से सांस भरें और उसे अनामिका और सबसे छोटी उंगली को मिलाकर बंद कर लें। इसके बाद दाएं नाक की ओर से अंगूठे को हटाकर सांस बाहर निकाल दें। इस आसन को 5 मिनट से लेकर आधा घंटा कर सकते हैं।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.