बस का किराया 1.50 से 2.50 रुपये प्रति किमी बढ़ाया, लंबी दूरी में 300 से 500 रुपये की बढ़ोतरी होगी

खबरें बिहार की

Patna: पेट्रोल-डीजल की आसमान छूती कीमतों का असर अब परिवहन और बस सेवाओं पर भी पड़ने लगा है। ऑटो, टैक्सी और बस किराये पहले से ही काफी अधिक थे। अब और बढ़ोतरी होने जा रही है। पूरे राज्य में बस किराया बढ़ाने की तैयारी चल रही है। परिवहन विभाग ने बढ़ोतरी का प्रस्ताव तैयार करने के बाद अधिसूचना भी जारी कर दी है। इस पर एक महीने तक बस संगठनों और आम लोगों से सुझाव लिये जायेंगे। सुझाव के आधार पर किराया बढ़ाने का फैसला लिया जायेगा। परिवहन सचिव संजय कुमार अग्रवाल ने कहा है कि डीजल के दाम में वृद्धि, मजदूरी, बीमा व अन्य खर्चे में वृद्धि के बाद बस मालिक संगठनों द्वारा किराये में वृद्धि की मांग की गयी थी। किराया राज्य और क्षेत्रीय परिवहन प्राधिकरण के स्तर पर निर्धारित किया जायेगा।

नई अधिसूचना के हिसाब से 100 किलोमीटर तक की दूरी की सेवाओं में 150 से 170 रुपये की बढ़ोतरी होगी। लेकिन सबसे अधिक प्रॉब्लम लंबी दूरी की बसों में देखने को मिलेगा। अमूमन पटना-मोतिहारी, पटना मधुबनी, पटना-पूर्णियां, पटना-रांची समेत तमाम रूटों के किराये में 300 से 500 रुपये की बढ़ोतरी होगी।
प्राइस टेबल पब्लिक ट्रांसपोर्ट के अंदर लगाई जायेगी। वहीं, स्थानीय जिला प्रशासन द्वारा बस स्टॉप पर इसे लगाया जायेगा ताकि निर्धारित दर से अधिक की वसूली न हो सके। प्रस्ताव के अनुसार हर बस में एक शिकायत रजिस्टर रखना भी अनिवार्य होगा। इस पर यात्री अपनी शिकायत लिख सकेंगे।

जारी अधिसूचना के मुताबिक वर्तमान रेट में साधारण बस सेवा के लिये 1.50 रुपये प्रति किमी, डीलक्स बस सेवा के लिये 1.70 रुपये प्रति किमी, डीलक्स एसी बस सेवा 2.00 रुपये प्रति किमी और वोल्वो मर्सिडीज और समकक्ष बसों का किराया 2.50 रुपये प्रतिकिलोमीटर की बढ़ोतरी की जायेगी।

लंबी दूरी के मामले में किराये की गणना भी निर्धारित की गई है। किराये की गणना संबंधित श्रेणी के पहले 100 किमी के लिये मूल किराया दर के आधार पर की जायेगी। 101 से 250 किमी की दूरी के लिये संबंधित वर्ग के मूल किराये की दर के आधार पर निर्धारित किराये में 20% की कमी होगी। 251 किमी से अधिक की दूरी के लिये संबंधित श्रेणी के मूल किराये की दर के आधार पर निर्धारित किराए में 30 प्रतिशत की कमी कर निर्धारित किया जायेगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published.