कांवर लेकर बाबाधाम पहुंचे तेजप्रताप, कहा- बिहार वासियों के लिए भोलेनाथ से मांगा है वरदान

आस्था राजनीति

पटना: लालू के लालू तेजप्रताप आज सुबह कांवर लेकर बाबाधाम पहंचे। लाइन में लगकर उन्होंने विधवत गंगा जल से बाबा बैद्यनाथ का जलाभिषेक किया। पूजा करने के बाद तेजप्रताप ने कहा कि हम बिहार के लोगों के लिए भगवान भोलेनाथ से कामन करने आए हैं। सवान में हिंदू-मुसलमान सहित समाज के सभी वर्ग के लोग भोलेनाथ को प्रसन्न करते हैं। उधर इस दौरान तेजप्रताप के साथ उनके कई समर्थक दिखे जो हर हर महादेव का नारा लगा रहे थे।

सोमवारी पर दिखा तेजप्रताप का नया रूप, सुलतानगंज से गंगाजल लेकर बाबाधाम विदा हुए लालू के लाल : सावन की सोमवारी पर लालू के लाल तेजप्रताप का नया रूप देखने को मिला। बाघ छाला पहने केसरिया कपड़े में तेजप्रताप पूर्ण रूप से शिव के रंग में रंगे नजर आए। ताजा अपडेट के अनुसार तेजप्रताप अपनी टोली के साथ सुलतानगंज पहुंचे। गंगा स्नान करने के बाद पहले उन्होंने विधिवत पूजा किया। डमरू बजाकर और शंखनाद कर भगवान भोलेनाथ को प्रसन्न करने का प्रयास किया। बताया जाता है कि वे कांवर लेकर बाबाधाम जाने के लिए विदा हो गए हैं। उधर जगह-जगह राजद कार्यकर्ताओं द्वारा तेजप्रताप का भव्य स्वागत किया गया।

सुलतानगंज में पत्रकारों से बात करते हुए तेजप्रताप ने कहा कि हम बिहार वासियों के लिए भगवान भोलेनाथ की पूजा अर्चना करने जा रहे हैं। बिहार की राजनीति में कुछ असुरी ताकतों का प्रवेश हो गया है। हम भगवान से कहेंगे कि जल्द इन असुरी ताकतों का नाश कर बिहार वासियों का ध्यान रखा जाए। वहीं उन्होंने अपने पिता माता पर जारी समन पर कहा कि भाजपा के लोग उनके परिवार को परेशान करने का काम कर रहे हैं।

बताते चले कि कि 30 जुलाई को सावन की पहली सोमवारी थी और इसी दौरान तेजप्रताप पटना स्थित शिव मंदिर में शिव की वेश-भूषा वाला कपड़ा धारण कर पूजा करते नजर आए। इसके बाद वह सु्ल्तानगंज से जल लेकर बाबा बैद्यनाथ का जलाभिषेक करने अपनी टोली के साथ निकले।

हालांकि इ्ससे पहले भी वो शिव का रूप धारण कर चुके हैं और अपने विभिन्न वेश भूषा को लेकर सुर्खियों में रहते हैं। कभी जलेबी बनाते हैं तो कभी गाय चराते दिखते हैं। कभी कृष्ण तो कभी बंसी बजाते हुए ग्वाला बन जाते हैं। लेकिन अब उनका यह नया रूप सामने आया है।

Source: Live Bihar

Leave a Reply

Your email address will not be published.