अमित शाह के साथ ब्रेकफास्ट कर नीतीश के चेहरे पर आयी मुस्कान, अब डिनर का इंतजार

खबरें बिहार की

पटना: बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह पटना पहुंच गए हैं। वह मिशन-2019 पर हैं। इसी सिलसिले में वह पटना पहुंचे हैं। सीट शेयरिंग का मुद्दा काफी गरमाया हुआ है। इस मुद्दे पर जदयू-बीजेपी के नेताओं के बयान ने घी में तेल डालने का काम किया। विरोधियों को हमला बोलने का मौका मिल गया। यही कारण है कि सबकी निगाहें मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और अमित शाह की मुलाकात पर टिकी है। दोनों की मुलाकात के बाद ही सीट शेयरिंग पर कुछ साफ हो पाएगा। हालांकि एनडीए के नेताओं का कहना है कि सीट शेयरिंग पर कोई बातचीत नहीं होनी है।

गेस्ट हाउस में ब्रेकफास्ट पर अमित शाह के साथ नीतीश कुमार की पहली मुलाकात हो चुकी है। इस मुलाकात के बाद गेस्ट हाउस से जाने के दौरान नीतीश कुमार ने चुप्पी साध ली। नीतीश को छोड़ने के लिए अमित शाह गेस्ट हाउस के गेट तक आए थे।

ऐसे में दोनों के बीच सीट शेयरिंग को लेकर क्या बातचीत हुई ये साफ नहीं हुआ। हां, एक बात गौर करने वाली थी। नीतीश कुमार के चेहरे पर हल्की सी मुस्कान जरूर देखी गई। नीतीश के मुस्कान के पीछे कुछ राज जरूर छिपा है। अब सबकी निगाहें नीतीश और अमित शाह के डिनर पर टिकी हुई है। नीतीश ने उन्हें डिनर का न्योता दिया है।

इस डिनर में कुछ चुनिंदा लोग ही शामिल होंगे। बताया जा रहा है कि जदयू के बेहद खास और नीतीश के बहुत करीब नेताओं की इस डिनर पार्टी में जगह मिलेगी। जदयू के जो नेता नीतीश कुमार के साथ डिनर में शामिल होंगे उन्हें जदयू के प्रदेश अध्यक्ष और राज्यसभा सांसद वशिष्ठ नारायण सिंह, जदयू के सांसद सह महासचिव आरसीपी सिंह, जल संसाधन मंत्री ललन सिंह, उर्जा मंत्री बिजेंद्र यादव और संसदीय कार्य मंत्री श्रवन कुमार का नाम सामने आ रहा है। माना जा रहा है कि ये पांचों नेता नीतीश कुमार के खास माने जाते हैं और जब बात सीट शेयरिंग को लेकर होगी तो इन सबके साथ चर्चा और सहमति के बाद ही कोई फैसला लिया जाएगा।

Source: Live Bihar

Leave a Reply

Your email address will not be published.