आरोपी ब्रजेश ठाकुर की करतूतें थम नहीं रही ,बेटे ने बेची करोड़ों की जमीन, जब्ती की थी आशंका

खबरें बिहार की

मुजफ्फरपुर महापाप मामले में मुख्य आरोपी ब्रजेश ठाकुर की करतूतें थम नहीं रही हैं. अब उसका नया मामला सामने आया है. कहा जा रहा है कि मुजफ्फरपुर बालिका गृह मामले में संपत्ति जब्त होने के डर से ब्रजेश ठाकुर के बेटे ने करोड़ों में अपनी जमीन बेच दी. मीडिया को मिल रही जानकारी के अनुसार मुजफ्फरपुर शहर के बीच की यह बेशकीमती जमीन की बिक्री ब्रजेश ठाकुर पर केस दर्ज होने के बाद की गयी है.

बताया जाता है कि मुजफ्फरपुर बालिका गृह मामला सामने आने के बाद ब्रजेश ठाकुर के परिजनों को भनक लगी कि उनकी चल-अचल संपत्ति जब्त हो सकती है. इसके बाद आनन-फानन में ब्रजेश ठाकुर के बेटे राहुल आनंद ने शहर की 11 कट्ठे बेशकीमती जमीन को लगभग दो करोड़ रुपये में बेच दी है. यह सरकारी दर बतायी जा रही है, जबकि बाजार भाव में कीमत करोड़ों में है.

बताया जाता है​ कि इस जमीन का डील ब्रजेश ठाकुर और उसके दागी एनजीओ सेवा संकल्प एवं विकास समिति पर केस दर्ज होने के बाद हुआ है. चर्चा है ​कि सरकारी दर के अलावा बाकी पैसा बिना कागजी दस्तावेज के कैश में लिया गया होगा. कैश की संभावना इसलिए भी है कि गुरुवार को ही सीबीआई ने बृजेश ठाकुर और उसके एनजीओ के सारे बैंक खाते सील करने के आदेश दिये थे.

गौरतलब है कि सीबीआई ब्रजेश ठाकुर को रिमांड पर लेने की तैयारी कर रही है. रिमांड के लिए कोर्ट में आवेदन देने से पहले सीबीआई ने ब्रजेश ठाकुर की मेडिकल रिपोर्ट मांगी है. सीबीआई को पेशी के दौरान हंसते ब्रजेश ठाकुर के बीमार होने पर भी शक है. बता दें कि इस मामले में कुल 11 लोगों पर प्राथमिकी दर्ज है. इनमें से 10 लोग गिरफ्तार हैं. वहीं एक अभियुक्त दिलीप वर्मा अभी भी फरार है. पुलिस डायरी में मधु के नाम आने के बाद पुलिस उसे भी तलाश रही है. इसी मामले में पति चंद्रशेखर वर्मा के ब्रजेश ठाकुर से फोन पर लगातार बात होने और बालिका गृह में जाने के आरोप में मंजू वर्मा ने मंत्री पद से इस्तीफा दे दिया है.

Leave a Reply

Your email address will not be published.