बीपीएससी 66वीं में टॉप 10 में बीटेक वालों का दबदबा

जानकारी

बीपीएससी की 66वीं परीक्षा में इंजीनियरिंग सेवा के छात्रों का दबदबा रहा। टॉप 10 में अधिकतर छात्र बीटेक वाले हैं। इसके पहले 65 वीं के रिजल्ट में भी टॉप टेन में अभ्यर्थी बीटेक वाले ही थे। टॉपर सुधीर ने आईआईटी कानपुर से सिविल इंजीनियरिंग की पढ़ाई 2019में पूरी की। दूसरी रैंक लानेवाले अंकित कुमार आईआईटी गुवाहाटी से बीटेक किया है। औरंगाबाद की मोनिका श्रीवास्तव ने 2016 में आईआईटी गुवाहाटी से कम्प्यूटर साइंस से पढ़ाई की। विनय कुमार रंजन आईआईटी दिल्ली से एमटेक किया है। इंजीनियरिंग सेवा के छात्रों का झुकाव सिविल सेवाओं की परीक्षाओं के प्रति बढ़ा है। इसका सबसे बड़ा कारण है कि सिविल सेवा की तैयारी में बीटेक के सिलेबस मददगार होते हैं।

पहले ही प्रयास में मोनिका को मिली सफलता औरंगाबाद की रहने वाली मोनिका श्रीवास्तव पहले ही प्रयास में सहायक राज्य कर आयुक्त बनकर बीपीएससी परीक्षा में सफल रहीं। उन्हें छठी रैंक मिली है। वर्ष 2016 में आईआईटी गुवाहाटी से कम्प्यूटर साइंस इंजीनियरिंग से पढ़ाई करने के बाद फिलहाल चेन्नई में सॉफ्टवेयर इंजीनियर के

पद पर कार्यरत हैं। मोनिका ने बताया कि वह जॉब के साथ-साथ हर दिन सेल्फ स्टडी करती थी। अब बिहार में जॉब के साथ-साथ यूपीएससी पास करना लक्ष्य है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.