बिहार के दोनों उपमुख्यमंत्री दिल्ली पहुंचे, जनिए क्या है इस दौरे की खास बात

राजनीति

Patna: बिहार में नई सरकार के गठन के बाद नीतीश सरकार के दोनों उप-मुख्यमंत्री नई दिल्ली पहुंचे हैं। बुधवार को बिहार के डिप्टी सीएम तारकिशोर प्रसाद और रेणु देवी नई दिल्ली पहुंचे जहां दोनों राष्ट्रपति और प्रधानमंत्री से मुलाकात करेंगे। बुधवार को जहां दिन के 11 बजे बिहार के दोनों डिप्टी सीएम राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद से मुलाकात करेंगे तो वहीं कल यानी गुरुवार को दोनों की मुलाकात प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से भी होगी।

चुनाव के बाद दोनों डिप्टी सीएम पहली बाद दो दिवसीय दिल्ली दौरे पर पहुंचे, जहां बीजेपी के कार्यकर्ताओं ने जोरदार स्वागत किया। दिल्ली पहुंचने पर बीजेपी एमएलसी संजय मयूख के नेतृत्व में बिहार के नेताओं ने दिल्ली में स्वागत किया।

बिहार के दोनों डिप्टी सीएम बुधवार को ही केंद्रीय रेल मंत्री पीयूष गोयल से भी मुलाकात करेंगे। दिल्ली पहुंचने पर बिहार के डिप्टी सीएम तारकिशोर प्रसाद ने बताया कि वो राष्ट्रपति से और प्रधानमंत्री से शिष्टाचार मुलाकात के लिए पहुंचे हैं। तारकिशोर प्रसाद ने कहा कि मोदी जी के मार्गदर्शन में हम सभी काम को पूरे करेंगे और बिहार के विकास को लेकर जो सपना देखा है उसे पूरा करने के लिए हम बात करेंगे। तारकेश्वर प्रसाद ने विश्वास जताया कि बिहार की डबल इंजन सरकार का लाभ हम सभी को मिलेगा और बिहार भी भारत की तरह आत्मनिर्भर बनेगा।

बता दें कि इस बार बिहार को दो उप-मुख्यमंत्री मिले हैं, और दोनों ही बीजेपी से। एनडीए की बैठक में बीजेपी के नेता तारकिशोर प्रसाद को बीजेपी विधायक दल का नेता चुना गया है, वहीं, रेणु देवी को उपनेता चुना गया है। तारकिशोर प्रसाद कटिहार से बीजेपी के विधायक हैं। चौथी बार यहां से विधायक चुने गए हैं। उन्होंने आरजेडी के राम प्रकाश महतो को 82,105 वोटों से हराया है। उन्होंने महतो को 2005 में भी महज 605 वोटों के अंतर से हराया था। वो बिहार के सीमांचल इलाके में पार्टी के एक्टिव नेता रहे हैं और खुद को पार्टी का सीमांचल का कार्यकर्ता मानते हैं। प्रसाद वैश्य समुदाय से आते हैं।

01 नवंबर 1959 को जन्मी रेणु का बचपन से ही राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ से जुड़ाव रहा है। 1981 में सामाजिक जीवन में पदार्पण हुआ। चंपारण और उत्तर बिहार को कार्यक्षेत्र बनाकर स्वयं सहायता समूह की महिलाओं के हक की लड़ाई शुरू की। 1988 में भाजपा दुर्गावाहिनी की जिला संयोजक बनीं। उस दौरान राम मंदिर आंदोलन में करीब 500 महिला कार्यकर्ताओं के साथ गिरफ्तारी दी। 1989 में भाजपा महिला मोर्चा की अध्यक्ष चुनी गईं।

1990 में तिरहुत प्रमंडल में महिला मोर्चा की प्रभारी बनीं। 1991 में प्रदेश महिला मोर्चा की महामंत्री बनीं। 1992 में जम्मू कश्मीर तिरंगा यात्रा में शामिल हुई। 1993 भाजपा बिहार प्रदेश महिला मोर्चा की अध्यक्ष चुनी गई। 1996 में फिर महिला मोर्चा की अध्यक्ष बनीं। 2014 में भाजपा की राष्ट्रीय उपाध्यक्ष चुनी गईं।

Source: खबरीलाल

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *