क्या है वाघा बॉर्डर

बाघा बॉर्डर एक सैनिक चौकी है, जो अमृतसर और लाहौर के बीच स्थित है। यह भारत-पाकिस्तान का एकमात्र सड़क सीमारेखा है और यहां विस्तृत निर्माण, सड़क और अवरोध बने हुए हैं। इस सीमा चौकी के प्रवेश द्वार को स्वर्ण जयंती गेट कहते हैं और इसके आसपास का परिवेश काफी हरा-भरा है।

वाघा बॉर्डर पर शाम के वक्त होने वाले परेड को देखने के लिए स्थानीय लोग और पर्यटक बड़ी संख्या में आते हैं। साथ ही परेड से पहले होने वाला रंगारंग समारोह आपका मन मोह लेगा। वहीं परेड के दौरान आप भारत और पाकिस्तान के सैनिक को आक्रामक मुद्रा में देख सकते हैं। जब सूरज डूब जाता है तो 30 मिनट का परेड भी ड्रम और बिगुल बजने के साथ तालियों की गड़गड़ाहट के बीच खत्म हो जाता है।

दो देशों की सीमा पर मौजूद वाघा बॉर्डर

वाघा भारत के अमृतसर, तथा पाकिस्तान के लाहौर के बीच ग्रैंड ट्रंक रोड पर स्थित गाँव है जहाँ से दोनों देशों की सीमा गुजरती है। भारत और पाकिस्तान के बीच थल-मार्ग से सीमा पार करने का यही एकमात्र निर्धारित स्थान है। यह स्थान अमृतसर से 32 किमी तथा लाहौर से 22 किमी दूरी पर स्थित है।

वाघा बॉर्डर का इतिहास

यह समारोह 1959 में शुरू हुआ था और दोनों देशों के सरकार ने इसकी सहमति व्यक्त की थी। तब से, समारोह बहुत धूमधाम के साथ आयोजित किया जाता है इस समारोह ने दशकों से चली आ रही दुशमनी के बीच दोनों देशों के बीच अच्छाई का संकेत दिया। हालांकि, कुछ वर्षों के बाद समारोह ने एक आक्रामक मोड़ लिया है।

वाघा बॉर्डर पर समारोह समय

समारोह 45 मिनट तक चलता है जो कि सूर्यास्त से पहले किया जाता है। सर्दी के दौरान 4:15 pm और गर्मी के दौरान 4:45 pm तक होता है। जबकि गेट का समय सुबह 10:00 बजे से शाम 4 बजे तक खुला रहता है। हालांकि, समारोह केवल 4:00 बजे के बाद शुरू होता है। इसलिए यदि आप समारोह देखना चाहते हैं, तो आपको 3:00 बजे से पहले स्थान तक पहुंचना होगा।

वाघा बॉर्डर की महत्वपूर्ण जानकारी

बाघा बॉर्डर पर जाने से पहले कुछ महत्वपीर्ण जानकारी हैं जिन्हें याद रखना जरुरी है। जैसे यहां जेमर लगा हुआ है इसलिए यहां मोबाइल फोन सेवा उपलब्ध नहीं है। महिलाओं के हैंडबैग या पर्स सहित कोई कवर बैग अंदर ले जाने की अनुमति नहीं है खाने से सम्बंधित चीजों के लिए अंदर स्टॉल उपलब्ध हैं

कैसे पहुंचा जाये वाघा बॉर्डर

ऐसे कई तरीके हैं जिनसे आप वाघा सीमा तक पहुंच सकते हैं। यह बसों और कारों के माध्यम से सड़क द्वारा पहुँचा जा सकता है गेट के पास बसों और परिवहन की अनुमति नहीं है ट्रेन से वाघा सीमा तक पहुंचने के लिए भी संभव है अमृतसर में रेलवे स्टेशन एक जंक्शन है। देश के सभी हिस्सों से विभिन्न ट्रेनें से जुड़ा हुआ हैं। हवाई अड्डे अमृतसर में स्थित है जो कि वाघा सीमा से लगभग 35 किमी दूरी पर है। वाघा सीमा तक पहुंचने के लिए 40 मिनट का समय लगता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here