manjhi

बिहार के गया जिले के एक शख्स की लव स्टोरी ऐसी थी कि डायरेक्टर केतन मेहता ने फिल्म बना डाली। हालांकि जो ऑरिजनल कैरेक्टर है उनकी डेथ हो चुकी है और फिलहाल उनकी फैमिली तंगहाली में जी रही है। एक शो के दौरान आमिर खान ने उनके बारे में चर्चा की थी।

बाद में वे उनके घर भी पहुंचे थे और फैमिली से मिलकर फाइनेंशियल हेल्प की बात कही थी। दशरथ मांझी की फैमिली को नीतीश कुमार ने शनिवार को सम्मानित किया। द माउंटेन मैन’ में नवाजदुद्दीन सिद्दीकी ने जिसका कैरेक्टर प्ले किया था उनका नाम दशरथ मांझी था।

bollywood-has-made-this-bihari-laborer-love-story

ये कहानी एक मामूली मजदूर की है जिसने अपने हाथों से 22 साल तक उस पहाड़ को काट डाला जो उसकी पत्नी की मौत की वजह बना।  गया जिले के गलहौर घाटी के मजदूर दशरथ मांझी को इस सनक की वजह से लोगों ने पागल तक करार दे दिया था।

दशरथ 1960 से लेकर 1982 तक एक पहाड़ को छेनी और हथौड़ी से काटते रहे थे। रोज घर से सुबह निकलते और शाम को पहाड़ी से घर आते। दशरथ की जिद थी कि पहाड़ काटकर रास्ता बनाएंगे। आखिरकार 22 साल में उन्होंने 25 फीट ऊंची, 30 फीट चौड़ी और 360 मीटर लंबी पहाड़ी काटकर सड़क बना डाली थी।

दशरथ मांझी गहलौर घाटी में रहते थे। पहाड़ी के उस पार रोज मजदूरी करने जाते थे। उनकी पत्नी फगुनी देवी रोज पहाड़ को पार कर दशरथ के लिए खाना और पानी लेकर जाती थी। एक दिन खाना ले जाने के दौरान पहाड़ पर मिट्टी का घड़ा गिर गया और पैर फिसलने से फगुनी देवी गिर गई।

घायल पत्नी की बाद में मौत हो गई जिसे देख दशरथ को बहुत दुख हुआ। दशरथ ने उस पहाड़ी को काटकर रास्ता बनाने का निर्णय ले लिया। दशरथ मांझी 1972 में पैदल ही रेलवे ट्रैक के किनारे-किनारे दो महीने में दिल्ली पहुंच गए थे। बिहार के नेता रामसुंदर दास से मुलाकात की थी और पीएम से भी मिलने गए थे, लेकिन सुरक्षाकर्मियों ने मिलने से रोक दिया था।

bollywood-has-made-this-bihari-laborer-love-story

2015 में फिल्म डायरेक्टर केतन मेहता ने ‘मांझी : द माउंटेन मैन’ के नाम से दशरथ मांझी की लाइफ और लव स्टोरी पर फिल्म बनाई थी। दशरथ मांझी का रोल नवाजुद्दीन सिद्दिकी और उनकी पत्नी फगुनी की भूमिका राधिका आप्टे ने निभाई थी। इस फिल्म की 85 फीसदी शूटिंग गहलौर घाटी में हुई थी।

दशरथ मांझी की मौत के सात साल बाद आमिर उनके घर पहुंचे थे। उन्होंने दशरथ की फैमिली से मुलाकात की और फाइनेंसियल हेल्प करने का वादा किया था। बता दें कि आमिर खान ने अपने शो सत्यमेव जयते में दशरथ मांझी की कहानी के बारे में बताया था।

manjhi

जब आमिर मांझी की फैमिली से मिलने उनके गांव गहलौर पहुंचे तो हजारों की तादाद में भीड़ उनकी एक झलक पाने पीछे लग गई।  भीड़ को काबू करने के लिए पुलिस को अलग से फोर्स बुलानी पड़ी थी।  आमिर को देखने का क्रेज लोगों में इस कदर था कि कोई पेड़ पर तो कोई पहाड़ पर चढ़कर बैठ गया था।

हर ताज़ा अपडेट पाने के लिए के फ़ेसबुक पेज को लाइक करें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here