बोल बम का नारा बा, बाबा एक सहारा बा : दो साल बाद सावन में गूंज रहा सुल्तानगंज, आज से शुरू हुई जलबोझी

आस्था खबरें बिहार की जानकारी

दो साल बाद सुल्तानगंज में बोल बोम के नारे गूंजने लगे हैं। हालांकि श्रावणी मेला का विधिवत उद्घाटन 14 को होगा, लेकिन जिन लोगों को सावन के पहले दिन चढ़ाना है, वे लोग सुल्तानगंज से जल उठाकर बाबाधाम जाने लगे हैं। बहुत सारे ऐसे कांवरिये आज रविवार को जल उठा। बहुत सारे लोग जल भरकर वाहनों से भी देवघर के लिए रवाना हो रहे हैं।

श्रावणी मेला में देश- विदेश से आने वाले लाखों शिवभक्त श्रद्धालुओं के कांवरों की घुंघरुओं से निकलने वाली कर्णप्रिय ध्वनियों और बोल- बम के नारों की गूंज पिछले दो साल से कोरोना के कारण खामोश थी। अजगैवीधाम स्थित उत्तर वाहिनी गंगा तट से लेकर कच्ची कांवरिया पथ पर एक महीने तक कांवरियों के कंधे पर लचकते कांवरों में लगी सुगंधित अगरबत्तियों से निकलने वाली महक भी इन दो वर्षों में नदारद थी।

इस वैश्विक महामारी ने सभी धर्म स्थलों में तालाबंदी करा दिया था। लिहाजा श्रद्धालु अपने-अपने घरों में कैद होकर ही भोलेनाथ की पूजा- अर्चना करने को विवश हो गए थे। लेकिन इस बार समय बदला और एक बार फिर से श्रावणी मेले को लेकर अजगैबीधाम में चहल- पहल शुरू हो गई है।

14 जुलाई से शुरू हो रहे इस मेले की प्रशासनिक स्तर से तैयारी भी अंतिम चरण में है। मंत्री से लेकर आयुक्त, डीएम, डीआईजी, एसएसपी मेला क्षेत्र का लगातार निरीक्षण कर तैयारियों को अंतिम रूप दे रहे हैं। मेला शुरू होने से छोटे-बड़े हजारों कारोबारियों की उम्मीदें जग गई हैं। मेला का उद्घाटन 14 को होना है, लेकिन कांवरियों का सुल्तानगंज गंगा घाट पर आने एवं गंगा जल लेकर अजगैवीनाथधाम से बाबाधाम के लिए जाना शुरू हो गया है।

धर्मशालाओं में तैयारी पूरी, चप्पे-चप्पे पर सुरक्षाकर्मी

भवन निर्माण विभाग द्वारा सरकारी धर्मशालाओं में तैयारी को अंतिम रूप दिया जा रहा है। धर्मशाला में रंग रोगन का काम अभी युद्ध स्तर पर चल रहा है। जिलाधिकारी नवीन कुमार ने कहा कि इस बार मेले की हर गतिविधि की निगरानी होगी। कमरांय से कुमरसार तक के बीच 26 कि.मी. में चप्पे-चप्पे पर सुरक्षाकर्मियों की तैनाती हो रही है। कुल 15 जगहों पर सीसीटीवी कैमरे लगाये जा रहे हैं। मुंगेर की सीमा में पड़ने वाले मेला क्षेत्र को 03 सेक्टरों में बांटा गया है। साथ ही मुंगेर जिले में 13 स्वास्थ्य शिविर लगाये जा रहे हैं।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.