उपेंद्र कुशवाहा को मनाने में जुटी भाजपा, कहा- खीर बनाइए मगर दूध गुजराती ही होना चाहिए

राजनीति

पटना: एक तरफ जहां बिहार के सीएम नीतीश कुमार और भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह लोक सभा चुनाव की तैयारी पर विशेष चर्च विचर्च कर रहे हैं तो दूसरी ओर भाजपा के कई नेता एनडीए से नाराज चल रहे उपेंद्र कुशवाहा को मनाने का भरसक प्रयास कर रहे हैं। मान मनौव्वल का दौर जारी है। रालोसपा को एनडीए द्वारा खुला आफर दिया गया है कि आप खीर बनाइए हमें कोई परेशानी नहीं है बस दूध हमसे लीजिए। सूत्रों के अनुसार दूध की गारंटी खुद भाजपा अध्यक्ष अमित शाह की ओर से दी जा रही है। उधर केंद्रीय मंत्री धमेंद्र प्रधान ने उपेंद्र कुशवाहा को भरोसा दिलाया है कि चिंता करने की कोई जरूरत नहीं है सीटों के बंटवारे में उनका पूरा ख्याल रखा जाएगा। बताते चले कि इन दिनों उपेंद्र कुशवाहा अपने बयानों से साफ सकेंत दे रहे हैं कि वे महागठबंधन में शामिल हो सकते हैं।

अमित शाह से डील फिक्स करने के बाद आज पटना लौटेंगे नीतीश, PK बनाएंगे आगे की रणनीति : मुख्यमंत्री नीतीश कुमार तीन दिवसीय दिल्ली दौरे पर हैं। वह गुरुवार के पटना लौटेंगे। दिल्ली दौरे के दौरान राजनीतिक रणनीतिकार प्रशांत किशोर साए की तरह उनके साथ रहे। वह कुछ दिन पहले ही जदयू में शामिल हुए हैं। प्रशांत किशोर ने बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह और बिहार बीजेपी प्रभारी भूपेंद्र यादव से मुलाकात की। इस दौरान प्रशांत किशोर भी साथ रहे। बताया जा रहा है कि एनडीए में सीट शेयरिंग को लेकर प्रशांत किशोर ने अहम भूमिक निभाई है। सूत्रों का कहना है कि फॉर्मूला भी तय हो चुका है। सिर्फ ऐलान बाकी है।

सीट शेयरिंग का फॉर्मूला तय करने के बाद अब प्रशांत किशोर आगामी लोकसभा चुनाव की तैयारी में लगेंगे। वह अब चुनाव प्रचार की रणनीति पर फोकस करने वाले हैं। जेडीयू में रहते हुए बिहार में नीतीश के व्यक्तित्व के ईर्द-गिर्द ही प्रशांत किशोर प्रचार केंद्रित करेंगे। 2015 में, किशोर ने ..झांसे में न आएंगे, नीतीश को जिताएंगे.. और .. बिहार में बहार है.. नीतीशे कुमार है.. जैसे प्रभावशाली स्लोगन दिए थे। इस बार भी पीके का फोकस इसी तरह की रणनीति पर होगा मगर स्थितियां तोड़ी बदली हुई होगी। 2015 का विधानसभा चुनाव नीतीश ने बीजेपी के खिलाफ लड़ा था। इस बार फिर दोनों साथ हैं। इस बार प्रशांत किशोर सिर्फ जदयू ही नहीं एनडीए के लिए भी सोचेंगे। 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.