बीजेपी गठबंधन धर्म का पालन करने के बदले जेडीयू को खत्म करने में लगी थी: श्रवण कुमार

खबरें बिहार की जानकारी

बिहार में एनडीए सरकार का अंत हो गया है। इस बीच नीतीश कुमार की सरकार में मंत्री रहे जेडीयू नेता श्रवण कुमार ने बीजेपी पर गंभीर आरोप लगाए हैं। उन्होंने कहा कि बीजेपी गठबंधन धर्म का पालन नहीं कर रही थी और जेडीयू को खत्म करने में लगी हुई थी। ऐसे में जेडीयू के सामने बीजेपी का साथ छोड़कर महागठबंधन के साथ जाने का ही विकल्प बचा।

जेडीयू नेता श्रवण कुमार ने एक समाचार चैनल से बातचीत में कहा कि जब बर्दाश्त की सीमा खत्म हो जाती है, तभी साथ छूटता है। विधानसभा चुनाव हो या विधान परिषद का चुनाव, हर बार बीजेपी और जेडीयू में मतभेद हो रहे थे। हम सरकार चला रहे थे तो बीजेपी के मंत्री आरोप लगा रहे थे। दूसरे राज्यों में पार्टी को खड़ा कर रहे थे तो वहां से हमारे विधायकों को लेकर उड़ जा रहे थे। बीजेपी के नेता रोजाना कुछ न कुछ बोलते रहते हैं। उससे जो पीड़ा होती है जो हालात हैं इससे लगता है कि गठबंधन धर्म का पालन नहीं करना चाहते हैं।

‘जेडीयू को हाईजैक करना चाहती थी बीजेपी’

श्रवण कुमार ने कहा कि बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा ने पटना आकर कहा कि 2025 के बाद देश में कोई क्षेत्रीय दल नहीं बचेगा। ऐसे में लगता है कि बीजेपी हमारी पार्टी को हाईजैक करना चाहती है। बीजेपी के नेता जेडीयू का अस्तित्व मिटाना चाहते हैं। ऐसी हरकतों और ऐसे बयानों से गठबंधन संभव नहीं है।

बता दें कि बीजेपी के साथ गठबंधन तोड़कर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने मंगलवार को अपने पद से इस्तीफा दे दिया। अब वे महागठबंधन के साथ नई सरकार का गठन करने जा रहे हैं। बुधवार दोपहर में नीतीश कुमार 8वीं बार मुख्यमंत्री पद की शपथ लेंगे। उनके साथ आरजेडी नेता तेजस्वी यादव भी डिप्टी सीएम पद की शपथ ग्रहण करेंगे। बीजेपी का साथ छोड़ने के बाद नीतीश कुमार की जेडीयू को आरजेडी, कांग्रेस, सीपीआई, सीपीएम, सीपीआई माले, हिंदुस्तान आवाम मोर्चा (हम) का समर्थन मिला है।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.