बिना सिंदूर वाली फोटो भेज तय करी शादी, लड़के वाले आए तो कुंवारी लड़की दिखाने के नाम पर मांगे और रुपए

खबरें बिहार की जानकारी

विक्रमशिला सेतु पहुंच पथ पर बस में सवार नौ लोग गिरफ्तार किए गए हैं। इनमें धोखा देने वालों के साथ धोखा खाने वाले भी शामिल हैं। नवगछिया के सिमरा की एक विवाहिता की फोटो राजस्थान में भेजकर 50 हजार रुपये लेकर शादी तय की गई। फिर लड़के और उसके मामा को तय तिथि पर शादी कराने नवगछिया की बजाय भागलपुर बुलाया गया। यहां जब उन लोगों ने लड़की की मांग में सिंदूर देखा तो भड़क गए। इस पर बिचौलियों ने उन्हें सुझाया कि अगर कुंवारी लड़की से शादी करनी है तो ज्यादा रुपये लगेंगे। इसी पर अनबन हो गई और लड़के के मामा ने परबत्ता थाना में प्राथमिकी दर्ज करा दी। फिर बात बनी तो सभी कुंवारी लड़की देखने भागलपुर से नवगछिया जाने लगे। उसी समय पुलिस ने पांच महिलाओं सहित नौ लोगों को पकड़ लिया।

9 गिरफ्तार लोगों में 4 नवगछिया के, 3 झारखंड के

दूल्हे के मामा संजय कुमार ने प्राथमिकी में धोखाधड़ी और अनैतिक कार्य के लिए स्त्री और बच्चों की खरीद-बिक्री करने का आरोप लगाते हुए इन्हीं नौ को नामजद किया था। गिरफ्तार लोगों में राजस्थान प्रदेश के जयपुर जिला के मोहना थाना अंतर्गत कृष्णनगर मानसरोवर निवासी सचिन शर्मा, झारखंड के कोडरमा जिला के जयनगर थाना अंतर्गत विरसोदी का तसलीम अंसारी, कोडरमा के दुधीमा का संतोष महतो, बोकारो के चंद्रपुरा का दयानंद पासवान उर्फ पंडित, नवगछिया के सिमरा की कोमल देवी, गोल सड़क घोघा की सुलोचना देवी, रंगरा ओपी के भवानीपुर की रूपा देवी, बांका के खड़हरा की सीमा देवी, और लोदीपुर थाना अंतर्गत चौधरीडीह की लक्ष्मी देवी शामिल हैं। पुलिस ने पुष्टि की है कि कोमल देवी पहले भी इन लोगों के साथ मिलकर राजस्थान के लोगों से ऐसी ठगी कर चुकी है, लेकिन इस बार पकड़ी गई।

25 हजार शादी के पहले और 25 हजार बाद में देने थे

परबत्ता थानाध्यक्ष पंकज कुमार ने बताया कि दूल्हे के मामा राजस्थान प्रदेश के जयपुर निवासी संजय कुमार के बयान पर थाने में प्राथमिकी दर्ज की गई है। उसके भांजे श्याम कुमार की शादी 50 हजार रुपये में सिमरा की कोमल देवी से तय की गई थी। इसके लिए झारखंड के तसलीम अंसारी ने कोमल की बिना सिंदूर वाली फोटो भेजी थी। यह बात तय हुई कि 25 हजार रुपये शादी के पहले देने होंगे फिर बाकी के शादी के बाद। तय तारीख पर मामा संजय कुमार, भांजा श्याम और एक रिश्तेदार अमित के साथ भागलपुर पहुंचा। भागलपुर में लड़की को मिलाया गया तो उसके मांग में सिंदूर देख सबने शादी से इन्कार कर दिया।

चतुराई से नवगछिया की बजाय बुला लिया था भागलपुर

बात जब यहां तक पहुंची कि अगर आप लोग कुंवारी लड़की से शादी करवाना चाहते हैं तो ज्यादा रुपये लगेंगे। पुलिस को पहले से सूचना दे दी गई थी और लड़के वाले भी मान गए थे। सभी लोग कुंवारी लड़की देखने भागलपुर से नवगछिया बस से जाने लगे। इन्हें पुलिस ने विक्रमशिला सेतु पहुंच पथ पर उतारकर पूछताछ शुरू की तो बात खुलती गई। थानाध्यक्ष पंकज कुमार ने यह भी बताया कि कोमल कुमारी शादीशुदा महिला है। उसकी शादी दो वर्ष पूर्व सिमरा में हुई है। वह अपने पति के साथ रहती है। खुद को कुंवारी बताकर इसी तरह ठगी करती है। फिलहाल, सभी गिरफ्तार लोगों को न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.