बिहार में 10 लाख नौकरियों के लिए पैसा कहां से लाएंगे नीतीश कुमार, मोदी के मंत्री ने पूछा सवाल

खबरें बिहार की जानकारी राजनीति

केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार में ऊर्जा मंत्री आरके सिंह ने कहा है कि बिहार में 10 लाख लोगों को नौकरी देने की घोषणा की गई है, लेकिन नीतीश सरकार इसके लिए पैसा कहां से लाएगी। पहले जब कहा गया था कि बिहार में ढाई लाख लोगों को नौकरी दी जाएगी तो उसका मजाक उड़ाया गया था। केंद्रीय मंत्री गुरुवार को डीएमसीएच परिसर में पावर ग्रिड कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया के सीएसआर फंड से निर्मित पांच मंजिला विश्राम सदन के उद्घाटन के बाद लोगों को संबोधित करते हुए ये बातें कहीं।

केंद्रीय मंत्री आरके सिंह ने कहा कि बिहार को विकसित बनाने के लिए हम अधिक से अधिक काम करेंगे। इसमें केंद्र सरकार की ओर से कोई कमी नहीं रहने दी जाएगी। उन्होंने पावर ग्रिड के सीएसआर फंड से बिहार में किये गए कार्यों की विस्तार से चर्चा की। लोगों की शिकायत पर उन्होंने कहा कि वे बिहार में लगाए जा रहे स्मार्ट प्रीपेड मीटर को लेकर आ रही शिकायतों की जांच के लिए दिल्ली से टीम भेजेंगे। इसमें अगर किसी का अधिक पैसा लगा होगा तो वे रिफंड करवाने की भी व्यवस्था करेंगे।

जरूरत से दोगुना ज्यादा बिजली का हो रहा उत्पादन

केंद्रीय मंत्री ने कहा कि बिजली क्षेत्र में पिछले 5-6 सालों में देश का कायाकल्प कर दिया गया है। देश में दो लाख 15 हजार मेगावाट बिजली की जरूरत है, जबकि चार लाख चार हजार मेगावाट का उत्पादन हो रहा है। अब किसी भी राज्य में बिजली की कमी नहीं है। वर्तमान में हम दूसरे देश को भी बिजली की सप्लाई कर रहे हैं। अभी देश के ग्रामीण क्षेत्रों में रोज साढ़े 22 घंटे बिजली मिल रही है। डिस्ट्रीब्यूशन क्षेत्र में कहीं-कहीं गड़बड़ी है, इसमें सुधार लाने के लिए लगातार प्रयास किए जा रहे हैं।

16 करोड़ की लागत से बना 260 बेड का विश्राम सदन 

ऊर्जा मंत्री ने कहा कि डीएमसीएच परिसर में 16 करोड़ की लागत से 260 बेड का विश्राम सदन का उद्घाटन किया गया है। इससे डीएमसीएच में भर्ती मरीजों के परिजनों को ठहरने में सुविधा होगी। उन्होंने पावर ग्रिड के सीएमडी से कहा कि विश्राम सदन में रहने और खाने का चार्ज कम से कम हो, इसका ध्यान रखेंगे। उन्होंने लोगों से भी इसके रखरखाव में सहयोग करने की अपील की।

Leave a Reply

Your email address will not be published.