बिहार के नालंदा से अगवा बैंक मैनेजर की हत्या, छह दिन बाद झारखंड से मिली लाश

खबरें बिहार की

पटना: बिहार के शेखपुरा से अगवा हुए बैंक मैनेजर की हत्या कर दी गई है. उनका शव झारखंड के तिलैया से मिला है. जयवर्धन मध्य बिहार ग्रामीण बैंक के शाखा प्रबंधक थे और कसार शाखा में पदस्थापित थे. मूल रूप से नालंदा जिला के बड़गांव के रहने बैंक मैनेजर पांच दिन पहले शाम को कसार स्थित बैंक शाखा से घर बड़गांव जा रहे थे इसी दौरान बीच रास्ते में अपराधियों ने उन्हें अगवा कर लिया था.

इस बीच बुधवार को उनकी लाश झारखंड के तिलैया डैम के पास मिली. इस मामले की पुष्टि एसपी ने भी की है. 27 सितंबर से अगवा बिहार ग्रामीण बैंक मैनेजर सह पेट्रोल पंप मालिक जयवर्धन की हत्या अपहरणकर्ताओं ने गोली मारकर की है. एसपी सुधीर कुमार पोरिका ने बताया कि अपहरणकर्ताओं ने जिस दिन बैंक मैनेजर जयवर्धन को अगवा किया था उसी दिन उसकी हत्या कर दी थी और शव को झारखंड के तिलैया डैम में फेंक दिया था.

पुलिस ने इस मामले में तीन लोगों को गिरफ्तार कर लिया है. गिरफ्तार लोगों ने स्वीकार किया है कि उन लोगों ने ही मैनेजर के ही गांव के एक व्यक्ति के कहने पर उसे अगवा कर हत्या कर दी. इस मामले में पुलिस ने पूर्व में ही बैग व मोबाइल बरामद किया था. पुलिस ने हत्या में प्रयुक्त वाहन को भी बरामद कर लिया है.

गिरफ्तार अपहरणकर्ताओं में तीनों नूरसराय और नालन्दा थाना क्षेत्र के रहने वाले हैं. घटना के बाद पूरे गांव में मातम छा गया है. बैंक मैनेजर के मोबाइल का आखिरी लोकेशन शेखपुरा नालंदा सीमा पर खराट मोड़ मिला था लेकिन न तो उनका और न ही बाइक का सुराग मिल सका. इस बीच पुलिस को उनका मोबाइल नवादा जिला के इलाके से मिला था.

इस घटना ने तीन जिलों की पुलिस को उलझा कर रखा था. बैंक मैनेजर की पत्नी ने इस मामले में राजगीर थाना में अपहरण का केस दर्ज कराया था जिसके बाद से पुलिस लगातार जयवर्धन को ट्रेस करने में लगी था. बैंक मैनेजर के मोबाइल के साथ पुलिस ने चार लोगों को हिरासत में लिया था लेकिन तीन को पूछताछ के बाद छोड़ दिया गया था.

Source: News18

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *