बिहार के लाल ने सात नक्सलियों को किया था ढेर, वीरता के लिए राष्ट्रपति ने किया सम्मानित

राष्ट्रीय खबरें

पटना: जिले के गोगरी प्रखंड के गोगरी गांव निवासी मो. रजिउद्दीन के पुत्र मो. रियाज आलम सोमवार को देश के राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद द्वारा शौर्य चक्र से सम्मानित हुआ। झारखंड के लातेहार में सात नक्सलियों को मार गिराकर अपने कई साथियों की जान बचाने वाला खगड़िया के लाल व सीआरपीएफ के जवान मो. रियाज आलम को राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने दिल्ली में आयोजित एक समारोह में शौर्यचक्र से सम्मानित किया। मो. रियाज आलम जिले के गोगरी वार्ड नंबर तीन का रहने वाले हैं। इनके पिता मो. रजीउद्दीन बेहद गरीब हैं। रियाज के इस उपलब्धि से न केवल गोगरी के लोग बल्कि संपूर्ण खगड़ियावासी फूले नहीं समा रहे हैं। उनके माता-पिता ही नहीं बल्कि पूरा खगड़ियावासी गौरवान्वित महसूस कर रहे हैं।

आपको बता दें कि 23 नवंबर 2016 को झारखंड का सबसे नक्सल प्रभावित क्षेत्र लातेहर में कर्मडीह गांव के पास सर्च ऑपरेशन के दौरान रियाज के कई साथी नक्सलियों के बीच फंस गए। रियाज ने हिम्मत दिखाते हुए न केवल अपने साथियों को बचाया बल्कि सात नक्सलियों को भी ढेर कर दिया।

गोगरी वार्ड संख्या तीन के रहने वाले पड़ोसी मो. फैजान आलम, मो. एजाज अहमद, मो मुख्तार अंसारी, मो. सौहैल अंसारी आदि ने बताया कि रियाज की वीरता पर गांव ही नहीं बल्कि देश के लोगों को भी नाज है। इस लड़के ने सबका सर ऊंचा कर दिया है। इनकी जितनी भी तारीफ की जाए कम है। इन्होंने जान की परवाह किए बिना अपने कई साथियों की जान बचाई। सात खूंखार नक्सलियों को भी मार गिराया।

मो. रियाज आलम अपने चार भाई-बहनों में सबसे छोटा हैं। इनकी प्रारंभिक शिक्षा जिले के गोगरी मकतब, गोगरी मध्य विद्यालय, गोगरी हाई स्कूल में हुई और वहीं उन्होंने गोगरी के ही के.डी.एस. कॉलेज से स्नातक की डिग्री प्राप्त की। मो. रियाज आलम के अलावा राजस्थान के झुंझुनू जिले के रतिराम जाखड़ के पुत्र विकास जाखड़ को भी राष्ट्रपति ने शौर्य चक्र से सम्मानित किया।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.