बिहार में अब जमीन रजिस्ट्री के साथ ही होगा म्यूटेशन की प्रक्रिया

खबरें बिहार की

Patna: बिहार में जमीन की खरीद-बिक्री की प्रकिया को आसान बनाने के लिए एक बड़ी पहल करने जा रही हैं अब बिहार में अगर सब कुछ ठीक रहा तो जल्द ही  जमीन रजिस्ट्री के साथ म्यूटेशन भी हो जाएगा हालाकि अभी सरकार ने इसको लेकर कोई घोषणा नही की हैं और उम्मीद है की सब कुछ ठीक रहा तो सरकार इसकी घोसना जल्द ही कर देगी ।

जानिए आखिर कैसे काम करेगी नई व्यस्था बताया जा रहा हैं की इस प्रयोग के तहत रजिस्ट्री के लिए कोई आदमी आवेदन करेगा तो सबसे पहले सर्वेयर या अमीन जमीन के प्लॉट पर जाएंगे. इसके बाद वह बिकने वाली जमीन के प्लाट का नक्शा बनाएंगे. सर्वेयर या अमीन के प्लॉट पर जाने की सूचना जमीन बेचने और खरीदने वाले को दी जाएगी. उनकी मौजूदगी में चौहद्दी, खाता, खेसरा और रकबा के साथ प्लॉट का नक्शा बनेगा. वह रजिस्ट्री के साथ लगेगा. उसके बाद अंचलाधिकारी म्यूटेशन का प्रमाण देंगे.

हलाकि बताया जा रहा हैं की अभी यह एक प्रयोग के लिए किया जाएगा और अगर यह सफल रहा तो यह व्यस्था पुरे बिहार में लागू कर दिया जायेगा. बता दे की इस प्रयोग के लिए सरकार ने शेखपुरा जिले के एक गांव को चुना है  इस काम के लिए सरकार आइआइटी रूड़की की मदद ले रही है.बताया जा रहा हैं की नई व्यवस्था को लेकर अभी केवल प्रयोग किया जा रहा है जिसके मुताबिक रजिस्ट्री में थोड़ी देर होगी, पर रजिस्ट्री के साथ म्यूटेशन भी हो जाएगा।

पुरानी नियम में अभी म्यूटेशन में कागज पर नए खरीददार का नाम दर्ज हो जाता है. बता दे की बदलाव यह होगा कि दस्तावेज में कागज पर नाम परिवर्तन के साथ प्लॉट का नक्शा और फोटो भी रहेगा. खाता, खेसरा और रकबा भी फोटो में रहेगा. इससे चौहद्दी का विवाद समाप्त खत्म हो जायेगा और बिहार में यह प्रक्रिया और भी अधिक आसान हो जाएगी. इसके साथ ही रजिस्ट्री के समय म्यूटेशन का नक्शा देने वाला बिहार देश का पहला राज्य बन जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published.