बिहार में नहीं लगेगा लॉकडाउन, CM नीतीश के स्वास्थ्य मंत्री का कोरोना पर बड़ा बयान

खबरें बिहार की

Patna: देश में कोरोना वायरस की दूसरी लहर बड़ी तेजी से फ़ैल रही है. होली के कारण बिहार में भी इन दिनों पॉजिटव मरीजों की संख्या में काफी इजाफा हुआ है. राज्य के अंदर कोरोना संक्रमण की रफ़्तार तेज हो गई है. बिहार सरकार की ओर से तमाम उपाए किये जा रहे है। लोगों से बी एहतियात बरतने की बार-बार अपील की जा रही है. इसी बीच बिहार सरकार के स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय ने एक बड़ा बयान दिया है. मंगल पांडेय ने कहा है कि फिलहाल बिहार में लॉकडाउन नहीं लगाया जायेगा. आपको बता दें कि देश के कई शहरों में नाईट कर्फ्यू और आंशिक रूप से लॉकडाउन लगाया गया है.

बुधवार को बिहार के स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय ने कहा कि बिहार सरकार पूरी तरह सचेत है. सरकार सतर्क होकर काम कर रही है. कोरोना जांच की संख्या बढ़ाई गई है. रोज तक़रीबन 60 से 70 हजार टेस्ट किये जा रहे हैं. देश के दूसरे राज्यों में जिस तरीके से कोरोना मरीजों की संख्या बढ़ी है, उसकी तुलना बिहार में स्थिति ठीक है. राज्य में लॉकडाउन अभी नहीं लगेगा. बिहार में फिलहाल 1500 के आसपास एक्टिव केस हैं. किसी-किसी जिले में बहुत कम एक्टिव केस हैं. लिहाजा लॉकडाउन और नाईट कर्फ्यू जैसे हालत अभी नहीं बने हैं.

गौरतलब हो कि राजधानी पटना समेत राज्य के कई शहरों में होली के अवसर पर बाहर से आने वाले लोगों के कारण कोरोना संक्रमण का खतरा बढ़ा है. पिछले दो हफ़्तों में मरीजों की संख्या काफी तेजी से बढ़ी है. बिहार में अब एक्टिव मरीजों का आंकड़ा एक बार फिर डराने वाला हो गया है. पटना में लगातार यह आंकड़ा सौ के पार पहुंच रहा है. आपको बता दें कि रविवार को 129 और सोमवार को 106संक्रमित मिले हैं, जिसके कारण विशेषज्ञों का मानना है कि होली की छुट्टी के बाद जब जांच बढ़ेगी तब संख्या फिर बढ़ सकती है.

उधर दूसरी ओर स्वास्थ्य विभाग के विडियो कॉन्फ्रेंसिंग में भी मंगलवार को जिले के स्वास्थ्य पदाधिकारियों ने प्रधान सचिव के समक्ष इस समस्या को उठाया.सारण के सिविल सर्जन ने सऊदी अरब से आए एक व्यक्ति के नाम का उल्लेख करते हुए बताया कि उसने अकेले 17-18 लोगों को संक्रमित कर दिया है.अगर उसकी जांच एयरपोर्ट पर होती तो गांव में इस प्रकार का संक्रमण नहीं फैलता.

बता दें कि राज्य में कोरोना के सक्रिय मरीजों की संख्या बढ़कर 1487 हो गई है. दस दिन पहले 19 मार्च को कोरोना के सक्रिय मरीजों की संख्या 436 थी. दस दिनों में राज्य में कोरोना के सक्रिय मरीजों में 1051 की बढ़ोतरी हो गयी. इस दौरान नये कोरोना संक्रमितों की लगातार पहचान होने से कोरोना संक्रमण के दायरे में विस्तार हुआ है. बिहार में पिछले 24 घंटे में 29224 सैंपल की जांच हुई है. बिहार में संक्रमित लोगों का रिकवरी रेट 98.86 फ़ीसदी है जबकि राष्ट्रीय औसत 94.18 प्रतिशत है.

Source: Daily Bihar

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *