बिहार से एक हफ्ते में विदा होगा मॉनसून, खिलने लगे कास के फूल; अब ठंड बढ़ेगी

खबरें बिहार की जानकारी

बिहार में अब मॉनसून विदा होने वाला है। शरद ऋतु आने वाली है। प्रकृति से इसके संकेत मिलने लगे हैं। पटना सहित राज्य के कई जिलों में कास के फूलों की सफेदी दिख रही है। भारतीय संस्कृति में कास में फूल आने को मानसून की विदाई का संकेत मानते हैं। रामचरित मानस में गोस्वामी तुलसीदास कहते हैं… ‘फूले कास सकल मही छाई, जनु बरसा कृत प्रकट बुढ़ाई’। मौसम विभाग की ओर से मिली जानकारी के अनुसार भी बिहार से मानसून की अगले एक हफ्ते में विदाई संभावित है। मौसमविद यह अनुमान कर रहे हैं कि 12 से 13 अक्टूबर के बाद सुबह और शाम ग्रामीण इलाकों में सिहरन महसूस होने लगेगी।

पिछले दो से तीन दिनों में पटना समेत राज्य के अधिकतर भागों में बारिश की गतिविधियां देखी गईं। चंपारण के इलाके में अतिभारी बारिश हुई। गुरुवार को भागलपुर और वाल्मीकिनगर में गुरुवार को झमाझम बारिश हुई। वाल्मीकिनगर में 107.5 मिमी बारिश हुई, जबकि भागलपुर में 37.5 मिमी बारिश रिकॉर्ड की गई। पटना में गुरुवार को मौसम साफ रहा। आसमान में आंशिक बादल रहे।

इस हफ्ते कुछ जगहों पर हो सकती है बारिश 

इससे पहले मंगलवार और बुधवार को पटना सहित आसपास के जिलों में झमाझम बारिश हुई थी। मौसम विभाग के अनुसार अब राज्य के अधिकतर भाग में आंशिक बादलों का आना-जाना लगा रहेगा। चंपारण के इलाके में एक दो जगहों पर भारी बारिश संभावित है। शेष भाग में मौसम धीरे धीरे साफ होगा। अगले एक हफ्ते में उत्तर पश्चिमी हवाओं का प्रभाव बनने के आसार हैं। 12 से 13 अक्टूबर के बाद सुबह और शाम ग्रामीण इलाकों में सिहरन महसूस होने लगेगी और ठंड का दौर शुरू हो जाएगा।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.