‘बिहार पॉलिटिक्स के ‘पप्पू’ हो गए हैं तेजस्वी यादव, उम्र के साथ अक्ल भी कम रखते हैं’

राजनीति

पटना: जेडीयू के मुख्य प्रवक्ता संजय सिंह ने तेजस्वी यादव पर निशाना साधते हुए कहा कि वे बिहार की राजनीति के ‘पप्पू’ हो गए हैं. संजय सिंह ने कहा, कि आप अपनी उम्र के साथ अक्ल भी कम रखते है. आपने बता दिया कि आप नौंवी पास से ज्यादा नहीं सोच सकते हैं. चूंकि तेजस्वी यादव को बैठे बिठाये सबकुछ मिल गया है, एसी हॉल में बैठ कर टेबुल पॉलिटिक्स में माहिर हो रहे है. इसलिए बयानबाजी कर रहे है. आप के पिता छात्र जीवन से संघर्ष कर राजनीति किए हैं, लेकिन आपको इसका एहसास नहीं.

अपनी छोटी अक्ल का प्रदर्शन कर रहे हैं

संजय सिंह ने कहा, ”तेजस्वी जी, आपके महागठबंधन के नेता ही आपको मुंहतोड़ जबाब दे रहे हैं. कांग्रेस के नेता शकील अहमद ने भी कह दिया कि वो लालू यादव के अलावा किसी से बात नहीं करते हैं. तेजस्वी यादव जी, अब आप अपने छोटी उम्र के साथ अपनी छोटी अक्ल का भी प्रदर्शन कर रहे है.”

जेडीयू के प्रवक्ता ने कहा, ”मानसिक सदमे से निकलिए. बिहार में महागठबंधन उसी दिन ख़त्म हो गया जिस दिन जेडीयू ने रास्ता अलग किया. आपकी भ्रष्ट नीति की ही देन है कि महागठबंधन बिखर गया. जनादेश जनसेवा को मिला था लेकिन आपने उसका इस्तेमाल परिवार सेवा के लिए करना शुरू कर दिया. आप टोटली कन्फ्यूजन में हैं और जनता को भी कन्फ्यूज कर रहे हैं. नीतीश कुमार जी आपके भ्रष्ट कुनबे के साये से भी दूर रहना चाहते हैं. आप इसी आशंका में छाती पीटते रहिये की कहीं कांग्रेस आपसे हाथ ना छुड़ा ले.

राहुल गांधी से मिलने के बाद हुआ बदलाव

संजय सिंह ने तेजस्वी यादव का जिक्र करते हुए कहा कि राहुल गांधी जी से चंद मुलाकातों के बाद वे ऐसे बर्ताव करने लगे थे जैसे वे ही कांग्रेस के नीति निर्धारक हों. लेकिन कांग्रेस के विधायकों ने भी तेजस्वी यादव को उनकी हैसियत बता दी. अब तो उन्हें समझ लेना चाहिए कि आप कांग्रेस के रहमोकरम पर राजनीति कर रहे हैं.

अपने बयान में जेडीयू प्रवक्ता ने आगे कहा, ”जनता के सामने नेतृत्व का चेहरा क्या अहमियत रखता है यह आज आपको अच्छे तरीक़े से समझ मे आ रहा होगा. हक़ीक़त जानकर भी आप “रस्सी जल गई लेकिन ऐंठन नहीं गई” वाली कहावत को चरितार्थ कर रहे हैं. 2015 के विधानसभा चुनाव में महागठबंधन के जो भी विधायक जीतकर आए, उन्हें मालूम है कि जीत में नीतीश कुमार जी के चेहरे की क्या भूमिका थी. तभी तो आपके साथ रहने के बावजूद कांग्रेस के विधायक नीतीश कुमार जी के नेतृत्व के कायल हैं.

Source: Live Cities

Leave a Reply

Your email address will not be published.