बिहार पुलिस की कार्रवाई: 18 मोबाइल, तीन लैपटॉप के साथ गिरोह के पांच लोगों को पकड़ा

जानकारी

पुलिस ने चोर गिरोह के मुख्य सरगना सहित पांच आरोपियों को धर दबोचा। पुलिस ने इनके पास से 18 मोबाइल, 3 लैपटॉप, 2 जोड़ी पायल, एक मंगलसूत्र बरामद किया है। गिरफ्तार लोगों में भभुआ थाना क्षेत्र के सीवों गांव निवासी व गिरोह का मुख्य सरगना 22 वर्षीय प्रदीप पटेल, 21 वर्षीय देवा साह, 22 वर्षीय गौरीशंकर पांडेय, 28 वर्षीय दीपक कुमार तथा मोकरी गांव के 20 वर्षीय पंकज कुमार शामिल हैं। पुलिस द्वारा की गई पूछताछ में सभी ने अपनी संलिप्तता स्वीकार की है।

इसकी पुष्टि सदर डीएसपी सुनीता कुमारी ने की। भगवानपुर थाने में शनिवार को आयोजित प्रेस कांफ्रेंस में डीएसपी ने बताया कि कोचाड़ी गांव में 29 नवंबर चोरी की घटना हुई थी, जिसकी एफआईआर 3 दिसंबर को दर्ज कराई गई। भगवानपुर क्षेत्र में चोरी की कई घटनाएं हुईं। थाने में प्राथमिकियां भी दर्ज थीं। लेकिन, ब्लाइंड केस को डिटेक्ट कर पाना मुश्किल था। फिर भी पुलिस ने तकनीकी अनुसंधान ने कोचाड़ी सहित कई मामलों का भंडाफोड़ किया। अभी अन्य मामले के भी सुराग मिलने की उम्मीद है। उन्होंने बताया कि भगवानपुर में चोरी की घटनाओं को देखते हुए प्रशिक्षु डीएसपी सह थानाध्यक्ष मो. मुशीर आलम के नेतृत्व में सब इंस्पेक्टर राकेश कुमार रोशन व एसआई सुजीत कुमार व पुलिस बल की टीम गठित की गई। गठित टीम द्वारा तकनीकी अनुसंधान एवं सूचनाओं के आधार पर सबसे पहले चोर गिरोह के मुख्य सरगना प्रदीप पटेल उर्फ बिलरुआ को गिरफ्तार किया गया।

बार-बार बयान बदल रहा था बिलरुआ

डीएसपी के अनुसार, पूछताछ के दौरान बिलरुआ बार-बार अपना बयान बदलकर पुलिस को गुमराह करने का काफी प्रयास किया। लेकिन, जब पुलिस ने उसके साथ कड़ाई से पेश तो उसने न सिर्फ अपनी संलिप्तता स्वीकारी, बल्कि इसपर से पर्दा भी हटाया और इसमें शामिल अपने दो साथियों का नाम भी बताया।

Leave a Reply

Your email address will not be published.