बिहार पर चढ़ेगा एफएम का फीवर: दरभंगा, कटिहार, सहरसा और गोपालगंज में रेडियो स्टेशन को केंद्र की मंजूरी

खबरें बिहार की जानकारी

अब सहरसा के लोग जल्द ही एफएम रेडियो का लुत्फ उठा सकेंगे। केंद्र सरकार ने सूबे के सहरसा सहित कटिहार, दरभंगा और गोपालगंज में एफएम रेडियो स्टेशन खोलने पर मुहर लगा दी है। सबसे अधिक क्षमता वाला स्टेशन सहरसा में स्थापित होगा। यहां 10 किलोवाट की क्षमता होगी जिससे 70 से 80 किलोमीटर के दायरे में लोग एफ एम रेडियो का लुत्फ उठा सकेंगे। वर्तमान में सहरसा के दिवारी में 100 वाट का एफएम रेडियो स्टेशन काम कर रहा था जिससे सहरसा के एक किलोमीटर के दायरे के लोग लुत्फ उठा रहे थे। शहर के लोग भी इस सुविधाओं से मरहूम थे। सहरसा रेडियो स्टेशन के खुलने से खगड़िया, सुपौल, मधेपुरा, दरभंगा सीमावर्ती के लोग भी लाभान्वित होंगे।

वहीं कटिहार 5 किलोवाट क्षमता का एफएम रेडियो स्टेशन स्थापित किया जाएगा। जिससे 20 किलोमीटर के दायरे के लोग एफएम रेडियो का लुत्फ उठा पाएंगे। दरभंगा में भी 5 किलोवाट की क्षमता वाला एफएम रेडियो स्टेशन स्थापित करने की योजना है। जिससे 20 किलोमीटर के दायरे के लोगों को फायदा होगा। वहीं गोपालगंज में एक किलोवाट क्षमता वाला एफएम रेडियो स्टेशन स्थापित किया जाएगा। जिससे 5 किलोमीटर के दायरे के लोगों को फायदा होगा। मालूम हो कि वर्ष 2021 में केंद्र सरकार ने दूरदर्शन केंद्रों को बंद कर दिया था। तीन फेज में अधिकांश केंद्रों को बंद कर दिया था। जिसमें सहरसा सहित अन्य दूरदर्शन केंद्र शामिल थे।

सांसद  दिनेश चंद्र यादव ने कहा है कि सहरसा के दिवारी स्टेशन में दूरदर्शन केंद्र बंद होने के बाद से ही एफएम रेडियो स्टेशन स्थापित करने के लिए प्रयासरत था। सहरसा में 10 किलोवाट का एफएम रेडियो स्टेशन स्थापित होगा। जिसके निर्माण 9 करोड़ 62 लाख खर्च आएगा। इस पर लोग गाना, समाचार सुन सकेंगे। इसकी क्षमता 60 से 70 किलोमीटर तक होगी।

क्षमता बढाने की जरूरत

सहरसा, कटिहार एफएम रेडियो स्टेशनों की क्षमता बढ़ाने की जरूरत है। दूरदर्शन के एक अधिकारी के मुताबिक सहरसा की क्षमता 30 किलोवाट तक की जानी चाहिए ताकि नेपाल के रेडियो का सीमावर्ती क्षेत्रों में मुकाबला किया जा सके। वहीं कटिहार की क्षमता 10 किलोवाट करने की जरूरत थी। ताकि बांगलादेश के रेडियो के प्रचार प्रसार को रोका जा सके। यह देश की सुरक्षा के लिए भी जरूरी है।

करोड़ों का आएगा खर्च

एफएम रेडियो स्टेशन स्थापित करने में करोड़ों का खर्च आएगा। सहरसा में एफएम रेडियो स्टेशन स्थापित करने में 9 करोड़ 62 लाख रुपया, कटिहार में 8 करोड़ 47 लाख रुपए, दरभंगा में 10 करोड़ 48 लाख रुपए और गोपालगंज में 9 करोड़ 15 लाख रुपए खर्च आएंगे। इस परियोजना के जल्द शुरू होने की उम्मीद जतायी जा रही है। अगले साल तक कार्य पूरा कर स्टेशन चालू करने की योजना है।

पूर्व के 25 बंद दूरदर्शन केंद्र में नए एफएम रेडियो स्टेशन होंगे स्थापित

देश भर में 25 एफएम रेडियो स्टेशन स्थपित करने की योजना है। इसमें नैनीताल, पिथौरागढ़, दरभंगा, नांदयाल, कटिहार, सहरसा, जगदलपुर, देवभूमि द्वारका, भुज, राधानगर, सिमोगा, उडूपी, लेह, अंबजोगई, बारासोर, जैसलमेर, कुबाकोणम, भेल्लोर, गोपालगंज, कोंडागांव, नारायणपुर, पाकुड़, सीकड़, येरकोड, फरूखाबाद शामिल हैं। ये सभी पूर्व से दूरदर्शन का स्टेशन था। जिस परएफएम का टावर लगाकर काम करने की योजना है।

16 नए अन्य स्टेशन किए जाएंगे स्थापित

देश भर में 16 नए एफएम रेडियो स्टेशन स्थपित किया जाएगा। इसमें चिंतापिल्लइ, विजिनाग्राम, बेलाडीला, कांकेड, चुरू, सिमडेगा, अनूपगढ़, मुंशियारी, भावनगर, गिरिडीह, कोडरमा, सिंगरौली, बस्ती, ईटाह, हरदोई, सरकाघाट शामिल हैँ।

Leave a Reply

Your email address will not be published.