बिहार में विकास की धाराः राज्य में 10 स्टेट हाईवे का निर्माण होगा, एशियन डेवलपमेंट बैंड करेगा सहयोग

खबरें बिहार की जानकारी

बिहार में 10 नए स्टेट हाईवे के निर्माण का रास्ता साफ हो गया है। एशियन विकास बैंक (एडीबी) के सहयोग से बनने वाली इन सड़कों की प्रक्रिया शुरू हो गई है। विकास आयुक्त की अध्यक्षता में स्क्रीनिंग कमेटी ने सभी 10 एसएच के बनने पर मुहर लगा दी है। आज-कल में इसका प्रस्ताव केंद्र को भेजा जाएगा। इसके बाद एडीबी से कर्ज लेकर सड़कों का निर्माण शुरू होगा। इन सड़कों के बनने से 13 जिलों के लोगों को सीधा लाभ होगा।

सभी एसएच का निर्माण बिहार राज्य पथ विकास निगम के माध्यम से होगा। निगम अधिकारियों के अनुसार विकास आयुक्त की सहमति मिलने के बाद अब वित्त विभाग इसका प्रस्ताव केंद्रीय वित्त मंत्रालय के अधीन कार्यरत आर्थिक कार्य विभाग (डीईए) को भेजेगा। वहां इन प्रस्तावों पर मंथन होगा। डीईए से मंजूरी मिलने के बाद बिहार को सड़क बनाने के लिए एडीबी से कर्ज मिल सकेगा। पथ निर्माण विभाग ने मौजूदा वित्तीय वर्ष में 10 स्टेट हाईवे व एक पुल बनाने का निर्णय लिया है। इसके तहत सुपौल में गणपतगंज से परवा 53 किमी लंबे एसएच का निर्माण होगा। छपरा व सीवान से होकर गुजरने वाली मांझी-दरौली गुठनी सड़क का निर्माण होगा, जिसकी लंबाई 71.6 किमी है। इसी तरह बक्सर में ब्रह्मपुर-कुरानसराय-इटाढ़ी-सरंजा-जालीपुर सड़क बनेगी। इसकी लंबाई 81 किमी है। नवादा व गया से होकर गुजरने वाली वनगंगा-जेठियनगहलोर-भिंडस स्टेट हाईवे बनेगा। इसकी लंबाई 41.6 किमी होगी। भोजपुर में 32.3 किमी लंबी आरा-एकौना-खैरा सहार सड़क बनेगी।

सीतामढ़ी-पुपरी-बेनीपट्टी सड़क भी एसएच बनेगी 51.35 किमी होगी लंबाई

वहीं, मधुबनी में मधुबनी-राजनगर-बाबूबरही-खुटौना एसएच बनेगा, जिसकी लंबाई 41.1 किमी होगी। सीतामढ़ी व मधुबनी से होकर गुजरने वाली सीतामढ़ी-पुपरी-बेनीपट्टी सड़क भी एसएच बनेगी। इसकी लंबाई 51.35 किमी होगी। बांका और भागलपुर से होकर गुजरने वाली 58 किमी धोरैया-इंग्लिश मोड़-असरगंज एसएच का निर्माण किया जाएगा। अतरवेल से जाले तक 45 किलोमीटर एसएच का निर्माण होगा। इन सड़कों के अलावा मुजफ्फरपुर में हथौड़ी-आथर-बभनगामा-औराई पथ में आथर-बभनगांवा के बीच बागमती नदी पर उच्चस्तरीय पुल व पहुंच पथ बनेगा।

इन जिलों को मिलेगा लाभ लाभ

इस योजना से जिन जिलों को लाभ मिलने वाला है वे जिले हैं। सुपौल, छपरा, सीवान, बक्सर, नवादा, गया, भोजपुर, मधुबनी, सीतामढ़ी, बांका, भागलपुर, मुजफ्फरपुर व दरभंगा।

सभी सड़कें अभी 10 मीटर से भी कम चौड़ी हैं

बनने वाली 10 एसएच में अभी तीन पहले से हैं, जबकि सात सड़कें मेजर डिस्ट्रिक्ट रोड (एमडीआर) हैं। लेकिन सभी सड़कें 10 मीटर से कम चौड़ी हैं। एडीबी की मदद से इन सभी सड़कों को कम से कम 10 मीटर चौड़ा बनाया जाएगा। विभाग ने इन सड़कों की उपयोगिता के मद्देनजर संबंधित इलाकों का सर्वे कराया था। सड़कों के चौड़ा होने से इन शहरों में लगने वाले जाम की समस्या से निजात मिलेगी और लोग कम समय में एक से दूसरे स्थान आ-जा सकेंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.