बिहार में TET खत्म, नीतीश सरकार का बड़ा फैसला; अभ्यर्थियों को पास करनी होगी CTET परीक्षा

खबरें बिहार की जानकारी

बिहार सरकार अब राज्य के सरकारी प्रारंभिक विद्यालयों में शिक्षकों की बहाली के लिए शिक्षक पात्रता परीक्षा (टीईटी) आयोजित नहीं करेगी। चूंकि भारत सरकार द्वारा नियमित रूप से केन्द्रीय शिक्षक पात्रता परीक्षा (सीटीईटी) आयोजित की जा रही है, इसलिए वर्तमान में शिक्षा विभाग द्वारा शिक्षक पात्रता परीक्षा (टीईट) आयोजित नहीं कराने का निर्णय लिया गया है। प्राथमिक शिक्षा निदेशक रवि प्रकाश ने शिक्षा विभाग के इस निर्णय की जानकारी बिहार विद्यालय परीक्षा समिति को दे दी है। अब बोर्ड इसपर अंतिम निर्णय लेकर पटना हाईकोर्ट को इसकी जानकारी देगा। गौरतलब है कि बिहार में शिक्षक पात्रता परीक्षा बिहार विद्यालय परीक्षा समिति द्वारा ली जाती है। एक याचिका की सुनवाई के क्रम में पटना उच्च न्यायालय ने न्यायादेश पारित कर बिहार विद्यालय परीक्षा समिति को टीईटी के आयोजन को लेकर निर्णय करने का निर्देश दिया था।

इसके बाद बोर्ड ने शिक्षा विभाग से कोर्ट के आदेश को लेकर प्राथमिक शिक्षक पात्रता परीक्षा आयोजित करने हेतु निर्णय की अपेक्षा विभाग से की थी। प्राथमिक निदेशक ने बिहार बोर्ड के सचिव को भेजे पत्र द्वारा तत्कालीन अपर मुख्य सचिव संजय कुमार की अध्यक्षता में हुई बैठक में टीईटी नहीं लेने के निर्णय से अवगत कराया है।

उन्होंने कहा कि 26 अप्रैल 2022 को हुई बैठक में निर्णय लिया गया है कि ‘बिहार पंचायत प्रारंभिक विद्यालय सेवा (नियुक्ति, प्रोन्नति, स्थानांतरण, अनुशासनिक कार्रवाई एवं सेवाशर्ती नियमावली-2020 में किये गये प्रावधानों के तहत शिक्षक नियुक्ति के लिए निर्धारित अर्ह्रता में केन्द्र अथवा बिहार सरकार द्वारा आयोजित शिक्षक पात्रता परीक्षा की उत्तीर्णता प्राप्त होना शामिल है।

केन्द्र सरकार द्वारा प्रतिवर्ष केन्द्रीय शिक्षक पात्रता परीक्षा (सीटीईटी ) आयोजित होती है। उक्त स्थिति में राज्य सरकार द्वारा शिक्षक पात्रता परीक्षा (टीईटी) अलग से आयोजित करने की आवश्यकता महसूस नहीं हो रही है। खासबात यह है कि शिक्षा विभाग ने विशेष टीईटी आयोजित करने की संभावना फिलहाल रखी है। प्राथमिक निदेशक ने बिहार बोर्ड को बताया है कि भविष्य में विभाग द्वारा आवश्यकता आधारित शिक्षक पात्रता (टीईटी) आयोजित किये जाने पर विचार कर निर्णय लिया जा सकेगा।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.