बिहार में सूखा संकट के बीच राहत, यूपी और एमपी ने छोड़ा 10 हजार क्यूसेक पानी

खबरें बिहार की जानकारी

बिहार में कम बारिश की वजह से उपजे सूखे के संकट के बीच उत्तर प्रदेश और मध्य प्रदेश ने राहत दी है। एमपी के बाणसागर और यूपी के रिहंद जलाशय से बिहार के लिए पानी छोड़ा गया है। राज्य को लगभग 10 हजार क्यूसेक पानी मिलने लगा है। इससे दक्षिण बिहार के बड़े हिस्से में सिंचाई के लिए पानी की उपलब्ध होने लगा है। पिछले दिनों बिहार सरकार की ओर से दोनों राज्यों से पानी छोड़ने का अनुरोध किया गया था, जिसके बाद वहां से आश्वासन मिला था।

कुछ दिन पहले तक रिहंद से पानी की आपूर्ति बंद थी। वहां से कभी-कभी थोड़ी मात्रा में ही पानी की आपूर्ति की जा रही थी। इससे बिहार के किसानों के सामने सिंचाई का बड़ा संकट आ गया था। हालांकि, अब रिहंद जलाशय से 5 हजार क्यूसेक पानी की आपूर्ति होने लगी है। इसके अलावा बाणसागर से भी 5 हजार क्यूसेक पानी छोड़ा जा रहा है।

बिहार में सामान्य से कम बारिश, धान की खेती पर असर

बिहार में इस सीजन मॉनसून की मेहरबानी नहीं होने से बारिश का आंकड़ा सामान्य से करीब 40 फीसदी कम है। ऐसे में कई जिलों खासकर दक्षिण बिहार में सूखे के हालात पैदा हो गए हैं। बारिश कम होने की वजह से नदी-नालों और नहरों में पर्याप्त पानी नहीं है। इससे धान समेत खरीफ की फसल प्रभावित हुई है। किसानों को अपने खेतों में सिंचाई के लिए पानी नहीं मिल पा रहा है। इससे अधिकतर जगहों पर धान की रोपनी नहीं हो पाई और जहां पर हुई वहां भी फसलों को नुकसान हुआ है। राज्य सरकार किसानों को राहत देने पर विचार कर रही है।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.