बिहार में स्‍टार्टअप के लिए सरकार ने खोला खजाना, यहां से कर सकते हैं आवेदन; सब्सिडी से लोन तक की मिलेगी सुविधा

खबरें बिहार की जानकारी
अगर आप अपना नया बिजनेस खड़ा करना चाहते हैं, कोई नया स्‍टार्टअप शुरू करने का इरादा है, तो बिहार बेहतरीन डेस्‍ट‍िनेशन हो सकता है। उद्योग विभाग के प्रधान सचिव संदीप पौंड्रिक के मुताबिक राज्य सरकार की नई स्टार्टअप नीति में इस बात का ख्याल रखा गया है कि स्टार्टअप का अप्रूवल और सीड फंड तेजी से दिया जाए। पिछले सप्ताह ही 31 नए स्टार्टअप को उद्योग विभाग द्वारा 1.8 करोड़ रुपये का प्रारंभिक सीड फंड उपलब्ध कराया गया।

हैंड होल्‍ड‍िंंग से वेंचर कैपिटल तक मदद मिलेगी

संदीप पौंड्र‍िक ने कहा कि स्टार्टअप के लिए सारा आकाश खुला है। नए आइडिया के साथ अपने सपनों को साकार करने के लिए आगे आइए। बिहार स्टार्टअप फंड की ओर से सीड कैपिटल से लेकर हैंड होल्डिंग और वेंचर कैपिटल प्राप्त करने में सहायता सहित अनेक सुविधाएं उपलब्ध कराई जा रही हैं।

तीन लाख रुपए तक की सब्‍स‍िडी देती है सरकार

उन्होंने कहा कि बिहार स्टार्टअप नीति के तहत एक्सीलरेशन प्रोग्राम के लिए 3 लाख रुपये तक की सब्सिडी का प्रावधान है। एंजेल निवेशक निवेश मिलने पर 2 प्रतिशत का सफलता शुल्क भी दिया जा रहा है। यदि सेबी रजिस्टर्ड एंजेल से निवेश प्राप्त होता है, तो बिहार स्टार्टअप फंड से मैचिंग लोन का प्रावधान भी किया गया है।

जनवरी से मिलेगा कोवर्किंग स्‍पेस

पटना के मौर्य कंपलेक्स और फ्रेजर रोड स्थित बीएसएफसी बिल्डिंग में स्टार्टअप के लिए कामन फैसिलिटी सेंटर और कोवर्किंग स्पेस की व्यवस्था की गई है जो एक जनवरी 2023 से आवंटित किया जाएगा। इससे स्‍टार्टअप शुरू करने के लिए कम लागत पर कार्यालय की व्‍यवस्‍था हो जाएगी।

एक दिसंबर से खुल जाएगा स्‍टार्टअप पोर्टल

उन्होंने कहा कि बिहार स्टार्टअप नीति के तहत पोर्टल पर आनलाइन माध्यम से आवेदन करना है, जिसके लिए पोर्टल एक दिसंबर को खोल दिया जाएगा और एक माह का समय दिया जाएगा। स्टार्टअप के संबंध में युवाओं को मार्गदर्शन और टेक्निकल सपोर्ट करने के लिए उद्योग विभाग ने जीरो लैब इनक्यूबेशन सेंटर बनाया है जो आइआइटी पटना के सहयोग से उद्योग भवन, पटना में संचालित है।

एक बिलियन से अधिक का कारोबार कर रहे कई स्‍टार्टअप

संदीप पौंड्र‍िक ने कहा कि देश में 40 से ज्यादा ऐसे स्टार्टअप हैं, जो एक बिलियन डालर से ज्यादा का कारोबार करते हुए यूनिकार्न का दर्जा प्राप्त कर चुके हैं। दुनिया का तीसरा सबसे बेहतरीन और विस्तृत स्टार्टअप इकोसिस्टम अपने देश का ही है। बिहार का इकोसिस्टम भी स्टार्टअप को बढ़ावा देने के लिए बेहतरीन है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.