बिहार में परिवार पर किच-किच, राजद के आरोप पर नितिन नवीन का जवाब- सिर्फ बधाई देने आई थी पत्नी

खबरें बिहार की जानकारी

बिहार में सरकारी कामकाज और विभागीय बैठकों लालू परिवार और सलाहकारों के शामिल होने के सुशील मोदी के आरोपों के बाद राष्ट्रीय जनता दल ने भाजपा पर पलटवार किया है। राजद ने अपने आधिकारिक ट्विटर हैंडल से भाजपा नेता नितिन नवीन और अश्वनि चौबे के परिवार के फोटो डालकर विपक्षी पार्टी से जवाब मांगा है। एक फोटो में नितिन नवीन के मंत्री कक्ष में उनकी पत्नी और परिवार के कुछ अन्य सदस्य दिख रहे हैं, जबकि अश्विनी चौबे वाले फोटो में उनका पुत्र दिख रहा है। हालांकि, इस संबंध में पूर्व पथ परिवहन मंत्री नितिन नवीन ने कहा राजद एक फोटो को गलत तरीके से पेश कर रहा है। विभागीय बैठकों या कामकाज में मेरा परिवार कभी शामिल नहीं हुआ है। उन्होंने बताया कि राजद ने जिस फोटो को लेकर मेरे ऊपर आरोप लगाया है, वह 21 फरवरी 2021 का है, जब मैंने विभाग का कामकाज संभाला था।

इससे पहले बीजेपी नेता सुशील मोदी ने आरोप लगाया था कि लालू प्रसाद के दामाद और राजद कार्यकर्ता सरकार चला रहे हैं।  उन्होंने लिखा था कि  वन एवं पर्यावरण मंत्री  तेज प्रताप यादव की अध्यक्षता वाले प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड की पहली समीक्षा बैठक में लालू प्रसाद के दामाद शैलेश कुमार न केवल मौजूद थे बल्कि उसका संचालन कर रहे थे। इसके साथ ही उन्होंने पथ निर्माण और स्वास्थ्य विभाग की समीक्षा बैठक में राजद के कार्यकर्ता और तेजस्वी के सलाहकार संजय यादव की मौजूदगी पर सरकार को घेरा था।

इसके बाद हमलावर राजद ने ताबड़तोड़ ट्वीट करके बीजेपी पर हमला बोल दिया। राजद ने कहा, “एक हफ्ते पहले तक ये नितिन नवीन भाजपा कोटे से बिहार का पथ निर्माण मंत्री था। पत्नी सहित इसका पूरा परिवार मंत्री के चैम्बर और विभाग में जाता था, अधिकारियों से मिलता था। सुशील मोदी, क्या इस पर कुछ बोलेंगे या बीजेपी विधायकों, मंत्रियों की ओर पोल खुलवाते रहेंगे? जल्दी बोलो, बहुत सबूत है?” फोटो के साथ किए गए एक अन्य ट्वीट में  राजद की ओर से कहा गया, “केंद्रीय मंत्री अश्विनी चौबे का बेटा अर्जित शाश्वत उनके साथ मीटिंग में मौजूद रहता है। क्या सुशील मोदी उस पर कुछ बोलेंगे? सत्ता जाने से बौखलाए और अपनी ही पार्टी में दूर फेंक दिए गए बेचारे सुशील मोदी का मानसिक संतुलन बिगड़ गया है। उन्हें त्वरित इलाज की सख्त जरूरत है।”

राजद द्वारा आरोपों के कठघरे में खड़े किए जाने के बाद नितिन नवीन ने लाइव हिन्दुस्तान से बातचीत में कहा, “हां, मेरे चैम्बर में मेरी पत्नी और परिजन आए थे। राजद वालों को तारीख पता नहीं होगा तो मैं वह भी बता देता हूँ। 21 फरवरी 2021 को मेरे द्वारा पथ निर्माण विभाग का कार्यभार संभालने पर बधाई देने आए थे, न कि किसी विभागीय बैठक या सरकारी कामकाज में शामिल होने।” उन्होंने आगे कहा कि हमारे नेता सुशील मोदी द्वारा पेश किए गए तथ्य के बाद राजद अनर्गल और तथ्यहीन आरोप लगा रहा है। इस मामले में खबर लिखे जाने तक अश्विनी चौबे की ओर से कई बयान नहीं आया है।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.