बिहार में नीतीश या योगी मॉडल कौन है बेस्ट? आमने-सामने आए बीजेपी-जेडीयू; जानें किस नेता ने क्या कहा

खबरें बिहार की राजनीति

उत्तर प्रदेश में जबसे योगी आदित्यनाथ ने दोबारा सत्ता की कुर्सी संभाली है तबसे बिहार में योगी मॉडल को अपनाने की चर्चा चल रही है। रोजाना बीजेपी और जेडीयू के बीच खींचतान चलती रहती है। ताजा बहस बुलडोजर मॉडल को लेकर छिड़ी है। इसी बीच डिप्टी सीएम तारकिशोर प्रसाद के बयान पर सियासत शुरू हो गई है। राजद के राज्यसभा सांसद मनोज झा ने डिप्टी सीएम पर नीतीश को धमकी देने का आरोप लगाया है। वहीं राज्य में कई जगह बुलडोजर चला है।

मनोज झा का कहना है कि यह तो सीधे तौर पर धमकी है कि आपका मॉडल नहीं चल रहा है। मुझे नफरत और बुलडोजर वाला मॉडल चाहिए। डिप्टी सीएम के बयान पर नीतीश कुमार या उनकी कोर टीम की चुप्पी इस बात को साबित करती है कि नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी सही कहते हैं। नीतीश जी पूरा प्लॉट लूज कर चुके हैं और उनके पास कुछ नहीं बचा है।

 

दरअसल, तारकिशोर प्रसाद से पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी के बयान को लेकर सवाल किया गया तो उन्होंने कहा कि बिहार सरकार बेहतर काम कर रही है। पुलिस-प्रशासन अपराध रोकने में सक्षम हैं। हालांकि उन्होंने बिहार में योगी मॉडल की जरूरत भी बताई। डिप्टी सीएम के बयान का समर्थन करते हुए बीजेपी प्रवक्ता राम सागर सिंह ने कहा कि योगी मॉडल वही है जो बिहार में 2005 से 2010 तक नीतीश का मॉडल हुआ करता था।

राजद प्रवक्ता मृत्युंजय तिवारी ने कहा, ‘बुलडोजर की चर्चा आजकल खूब हो रही है। योगी मॉडल या बुलडोजर चलेगा बीजेपी के लोग यह बात कर रहे हैं। बीजेपी वाले ये बुलडोजर बेरोजगारी, महंगाई, अपराध, भ्रष्टाचार पर कब चलाएंगे।’

कांग्रे प्रवक्ता असितनाथ तिवारी ने कहा, ‘सार्वजनिक मंचों पर तो बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार जी कहते हैं कि भूमिहीनों को जमीन दी जाएगी। घर बनवा कर दिया जाएगा। हो क्या रहा है। भूमिहीनों की झोपड़ियों पर बुलडोजर चलाया जा रहा है। एक विध्वंसकारी बुलडोजर संस्कृति विकसित करने की कोशिश हो रही है। बुलडोजर गरीबों, निरीहो पर चलाया जा रहा है। जिनके पास घर बनाने तक के पैसे नहीं हैं।’

जेडीयू प्रवक्ता अरविंद निषाद ने कहा, ‘राज्य सरकार द्वारा समय-समय पर अतिक्रमणकारियों के खिलाफ अभियान चलाया जाता रहा है। उसके लिए जिला स्तर पर सब जगह कमेटी बनी हुई हैं। उन कमेटी के माध्यमों से जो सरकारी जमीन पर अतिक्रमण कर अवैध निर्माण किए हुए व्यक्तियों के खिलाफ अभियान चलाने का लंबा इतिहास रहा है।’

बीजेपी प्रवक्ता अरविंद सिंह ने कहा, ‘बिहार में जंगलराज के बाद माननीय मुख्यमंत्री नीतीश कुमार जी के नेतृत्व में सरकार ने सुशासन की स्थापनी की। सारे जंगलराज को समाप्त किया है। विकास के राह पर बिहार चल रहा है। लेकिन बुलडोजर सुशासन का प्रतीक है। अतिक्रमण पर शासन का बुलडोजर चलता है तो इससे उनमें कानून और सरकार का डर पैदा होता है। वे गुंडागर्दी करने से भय खाते हैं।’

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.