बिहार में नक्सलियों के सुरक्षाबलों पर हमले की बड़ी साजिश नाकाम, औरंगाबाद से देसी रॉकेट लॉन्चर और 275 आईईडी बम बरामद

खबरें बिहार की जानकारी

बिहार में बड़ी नक्सली साजिश नाकाम हुई है। औरंगाबाद जिले में सीआरपीएफ की कोबरा बटालियन, एसटीएफ और बिहार पुलिस ने एक देसी रॉकेट लॉन्चर, 275 आईईडी बम, 25 केन बम समेत अन्य संदिग्ध सामग्री बरामद की है। सुरक्षाबलों ने इनपुट के आधार पर गया जिले की सीमा पर स्थित चकरबंधा के जंगल और पहाड़ी इलाकों में सर्च ऑपरेशन किया। जंगल में सुरक्षाबलों पर हमले के इरादों से नक्सलियों ने आईईडी प्लांट किए थे।

बंकर में छिपा कर रखे गए थे बम

औरंगाबाद एसपी कंतेश कुमार मिश्रा ने बुधवार को बताया कि नक्सलियों के खिलाफ इलाके में सुरक्षाबलों की संयुक्त कार्रवाई की गई। इसमें 87 से ज्यादा केन बम बरामद हुए हैं। इन्हें नक्सलियों ने बंकर में छिपाकर रखा था। इनका वजन एक से तीन किलोग्राम तक है। सुरक्षाबलों ने बंकर को भी बर्बाद कर दिया है। बताया जा रहा है कि इन बमों से अलग-अलग जगहों पर सुरक्षाबलों को निशाना बनाने की साजिश थी।

नक्सलियों ने खुद से बनाया रॉकेट लॉन्चर

सुरक्षाबलों की छापेमारी में एक देसी रॉकेट लॉन्चर भी बरामद हुआ है। शुरुआती जांच में पता चला है कि नक्सलियों ने इसे खुद से ही लोहे की पाइप की मदद से बनाया था। पूर्व में भी कई रॉकेट लॉन्चर बरामद हुए लेकिन वे विदेशों में बने हुए थे। मगर देसी रॉकेट लॉन्चर मिलने से सुरक्षाबलों की चिंता बढ़ गई है।

रास्ते में बिछा रखे थे आईईडी

सुरक्षाबलों को नक्सलियों के खिलाफ जारी अभियान में मंगलवार को 275 आईईडी बरामद मिले। इन्हें डिफ्यूज कर दिया गया है। इनमें से 25 आईईडी अलग-अलग जगहों पर प्लांट किए गए थे, जबकि 250 आईईडी सड़क पर एक ही सीरीज में लगे हुए थे। इसके अलावा 100 मीटर लंबा प्लास्टिक का पाइप भी बरामद हुआ है। नक्सलियों के खिलाफ अभियान अब भी जारी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.